Spread the love


नई दिल्ली7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

युवराज सिंह ने पिछले साल 10 जून को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट ले लिया था। (फाइल फोटो)

  • युवराज ने कहा- पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी के निवेदन पर घरेलू क्रिकेट में वापसी करने का निर्णय लिया
  • युवराज सिंह ने पिछले साल 10 जून को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान किया था

भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह घरेलू क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली और सेक्रेटरी जय सिंह को चिट्‌ठी लिखकर अनुमति मांगी है। युवी ने क्रिकेट की वेबसाइट क्रिकबज को बुधवार को दिए इंटरव्यू में यह जानकारी दी। युवराज ने पिछले साल 10 जून को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था।

युवराज ने बताया कि वे कुछ महीनों से पंजाब के युवा खिलाड़ियों शुभमन गिल, अभिषेक शर्मा, प्रभासिमरन सिंह और अनमोलप्रीत सिंह के साथ मोहाली के पीसीए स्टेडियम में समय बिता रहे हैं। युवराज ने कहा कि मुझे इन युवाओं के साथ समय बिताना पसंद था और खेल के अलग-अलग पहलुओं पर उनसे बात करने पर मुझे एहसास हुआ कि मैं जो उन्हें बता रहा हूं, उससे वह सीख रहे हैं।

युवराज ने कहा कि उनके लिए मुझे नेट्स पर भी उतरना पड़ा और मैंने पाया कि मैं गेंद को कितनी अच्छी तरह से मार रहा था, भले ही मैंने वास्तव में लंबे समय तक बल्ले को हाथ नहीं लगाया है।

पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी के कहने पर वापसी का मन बनाया
युवराज ने बताया कि उन्होंने लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद पंजाब के खिलाड़ियों के साथ ऑफ सीजन कैंप में समय बिताया था। दो महीने उन्हें ट्रेनिंग दी और फिर मैंने ऑफ-सीजन कैंप में बल्लेबाजी करना शुरू कर दिया। इसके बाद पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी पुनीत बाली ने मुझसे कई बार संपर्क किया। मुझसे पूछा कि क्या मैं रिटायरमेंट से बाहर आने पर दोबारा सोचूंगा।

बाली का कहना था कि पंजाब टीम में ज्यादातर युवा खिलाड़ी ऐसे हैं, जो युवराज से टिप्स लेकर बेहतर खेल रहे हैं। वहीं युवराज भी फिट हैं और अच्छी बल्लेबाजी भी कर रहे हैं, तो ऐसे में उनके आने से सभी की जीत होगी।

युवराज दुनिया भर की क्रिकेट लीग में खेलना जारी रखना चाहते थे
युवराज ने कहा कि शुरू में मुझे यकीन नहीं था कि मैं इस प्रपोजल के बारे में सोचूंगा। मैं दुनिया भर के क्रिकेट लीग में खेलना जारी रखना चाहता था, लेकिन मैं बाली की गुजारिश को अनदेखा नहीं कर सकता था। मैने तीन-चार हफ्ते बहुत सोचा और आखिरी में इस फैसले पर पहुंचा।

बीसीसीआई से घरेलू क्रिकेट खेलने की इजाजत मिली तो विदेशी लीग नहीं खेलेंगे
उन्होंने कहा कि जब उन्हें भरोसा हो गया कि वो पंजाब के लिए एक-दो सीजन खेल सकते हैं, तब उन्होंने बीसीसीआई प्रेसिडेंट साैरव गांगुली और सेक्रेटरी जय शाह को पत्र लिखकर इजाजत मांगी। उन्होंने कहा कि पत्र में उन्होंने स्पष्ट किया है कि अगर घरेलू सीजन में खेलने का मौका मिला तो वे विदेशी लीग नहीं खेलेंगे।

आईपीएल में युवी पिछले साल मुंबई टीम की ओर से खेले थे
युवराज ने भारतीय टीम के लिए पिछला मैच 30 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे खेला था। इसके बाद वे 2018 में आईपीएल की टीम किंग्स इलेवन पंजाब और 2019 में मुंबई इंडियंस के लिए खेलते नजर आए थे। इसके बाद उन्होंने क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

युवराज ने भारत के लिए 40 टेस्ट में 1900 और 304 वनडे में 8701 रन बनाए हैं। उनके नाम 58 टी-20 में 1177 और आईपीएल के 132 मैच में 2750 रन दर्ज हैं।

0



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here