Spread the love


अमेरिका में गर्वनर का चुनाव लड़ रहे एक कैंडिडेट पर लड़की के अपहरण और हत्या का आरोप. ( सांकेतिक फोटो (Pixabay)

US ELECTION 2020: इदाहो के गवर्नर के लिए दो बार के उम्मीदवार पर 1984 में गायब हुई एक लड़की के अपहरण और हत्या का आरोप लगाया गया है.अधिकारियों ने बताया कि 12 वर्षीय जोनैल मैथ्यूज अमरीका के कोलोराडो से 1984 में गायब हुई थी और पिछले साल उसके अवशेष मिले थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 14, 2020, 2:13 PM IST

कोलोराडो. इदाहो के गवर्नर (Governor Candidate) के लिए दो बार के उम्मीदवार पर 1984 में गायब हुई एक लड़की के अपहरण और हत्या (Kidnapping And Murder) का आरोप लगाया गया है.अधिकारियों ने बताया कि 12 वर्षीय जोनैल मैथ्यूज अमरीका के कोलोराडो से 1984 में गायब हुई थी और पिछले साल उसके अवशेष मिले थे. जिला अटॉर्नी माइकल राउरके ने एक संवाददाता सम्मेलन में इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि 69 साल के स्टीवन पांके (Steven Panke) को 12 साल की मैथ्यूज की फर्स्ट -डिग्री हत्या और अपहरण के आरोपों में जूरी द्वारा आरोपित किया गया है.

कैसे हुआ बच्ची का अपहरण

जोनैल मैथ्यूज कोलोराडो के ग्रीली से तब गायब हुई जब वह क्रिसमस संगीत कार्यक्रम में गाने के बाद घर से वापस आ रही थी. जोनैल जिस वक़्त गायब हुई पांके भी उसी इलाके में रहता था और उस पर लगे आरोपों के अनुसार उस दिन वह जोनैल और अन्य बच्चों घर वापिस आते देख रहा था. आरोपों के अनुसार पांके ने जोनैल मैथ्यूज के घर के पास से उसका अपहरण कर लिया और अपहरण के दौरान उसे गोली मार दी. पिछले साल एक पाइपलाइन पर काम करने वाले उत्खनन दल ने वेल्ड काउंटी के एक रिमोट एरिया के दूरस्थ तेल और गैस साइट पर एक लड़की के अवशेषों को देखा. जांच में वे अवशेष जोनैल मैथ्यूज के निकले.

पांके ने जानबूझकर हत्या की जांच में खुद को शामिल करवायापांके बहुत ही शातिर आदमी था. उसने जानबूझकर खुद को कई बार इस हत्या की जांच में शामिल करवा लिया और जांच को गलत दिशा में ले जाने की भरसक कोशिश की. इदाहो स्टेट्समैन अखबार ने बताया कि पांके दो बार इदाहो के गवर्नर के लिए खड़ा हुआ लेकिन असफल रहा. सितंबर 2019 में स्टेट्समैन को दिए एक साक्षात्कार में पांके ने 12 साल की जोनैल मैथ्यूज की हत्या के आरोप को मानने से इनकार किया और कहा कि वह कभी भी जोनैल मैथ्यूज से नहीं मिला और न ही उसके परिवार से कभी मिला.

ये भी पढ़ें: अजरबैजान ने आर्मेनिया के खिलाफ चली चाल, सुविधाओं से लैस सैनिकों का जारी किया वीडियो

ट्रंप ने रैली में कहा, अब मुझमें रोग प्रतिरोधी क्षमता है, नीचे आकर किसी को भी चूम सकता हूं 

पांके को 26 दिसंबर (1984) से पहले तक यह भी नहीं पता था कि वह अस्तित्व में थी या गायब हो गई थी. यदि पांके पर प्रथम-डिग्री हत्या का दोषी सिद्ध हो जाता है, तो पैरोल की संभावना के बिना उसे आजीवन सजा का सामना करना पड़ेगा.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here