Spread the love


आईपीएस हिमांशु कुमार और आईपीएस अजयपाल शर्मा

सूत्रों की मानें तो डायरेक्टर विजिलेंस के निर्देशन में तैयार की गयी इस रिपोर्ट में दोनों आईपीएस के खिलाफ लगे तमाम आरोपों में से कई सही पाए गये हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 15, 2020, 7:24 AM IST

लखनऊ. सतर्कता अधिष्ठान (Vigilance) ने आईपीएस अजय पाल शर्मा (IPS Ajay Pal Sharma) और हिमांशु कुमार (IPS HImanshu Kumar) के खिलाफ जांच पूरी कर शासन को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. विजिलेंस के सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट में दोनों आईपीएस अधिकारियों पर लगे आरोपों की गहनता से जांच के बाद शासन से एफआईआर दर्ज कराने की सिफारिश की गई है. फिलहाल यह रिपोर्ट गोपनीय होने के कारण विजिलेंस के अधिकारी इसका खुलासा नहीं कर रहे हैं, पर सूत्रों की मानें तो डायरेक्टर विजिलेंस के निर्देशन में तैयार की गयी इस रिपोर्ट में दोनों आईपीएस के खिलाफ लगे तमाम आरोपों में से कई सही पाए गये हैं और शासन से नियमों के मुताबिक अनुशासनात्मक कार्यवाई करने की संस्तुति की गयी है.

डायरेक्टर विजिलेंस के नेतृत्व में हुई जांच

दरअसल, आईपीएस अजय पाल शर्मा और हिमांशु कुामर के खिलाफ नोएडा के पूर्व एसएसपी वैभव कृष्ण ने अपराधियों से साठगांठ करने व भ्रष्टाचार समेत तमाम गंभीर आरोप लगाए थे. शासन ने इन आरोपों की जांच के लिए डायरेक्टर विजिलेंस के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया था. दिसंबर 2019 में एसआईटी की रिपोर्ट मिलने के बाद शासन ने विजिलेंस को इस मामले की जांच सौंप दी थी. इस रिपोर्ट में दो आईपीएस के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की संस्तुति की थी. शासन के निर्देश पर विजिलेंस ने इस मामले की जांच शुरू कर तथ्यों को जुटाते हुए अपनी रिपोर्ट तैयार की है. हालांकि इससे पहले अजय पाल शर्मा के खिलाफ दिए गये सुबूत फोरेंसिक जांच में गलत पाए गये थे.

दोनों पर लगे हैं ये आरोपदोनों आईपीएस अजय पाल शर्मा और हिमांशु कुमार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं. आईपीएस अजयपाल शर्मा पर अपराधियों से सांठगांठ और भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं. अजयपाल शर्मा पर एक महिला ने भी आरोप लगाए हैं. एफआईआर के बाद अजयपाल का वॉइस सैम्पल लिया जा सकता है. आईपीएस हिमांशु कुमार पर ट्रांसफर- पोस्टिंग के लिए सिफारिश का आरोप लगा है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here