Spread the love


  • Hindi News
  • International
  • Rajnath Singh Russia Visit Update | Defence Minister Rajnath Singh Leaves For Moscow To Attend SCO Meet Amid India China Border Standoff

नई दिल्ली3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को रूस के लिए रवाना हुए। राजनाथ ने ट्विटर पर रूसी डिफेंस मिनिस्टर से प्रस्तावित मुलाकात की जानकारी तो दी, लेकिन चीन के रक्षा मंत्री से बातचीत पर कुछ नहीं कहा।

  • राजनाथ मॉस्को के लिए रवाना हुए, यहां वे शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन यानी एससीओ की मीटिंग में हिस्सा लेंगे
  • मीटिंग में चीन के रक्षा मंत्री भी आएंगे, लेकिन राजनाथ के शेड्यूल में उनसे मुलाकात का जिक्र नहीं

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को तीन दिन की रूस यात्रा पर रवाना हो गए। यहां वे एससीओ समिट में हिस्सा लेंगे। इस मीटिंग में चीन के रक्षा मंत्री भी शिरकत करेंगे। लेकिन, राजनाथ के शेड्यूल में चीनी रक्षा मंत्री से मुलाकात का जिक्र नहीं है। दोनों देशों के बीच लद्दाख में तनाव चल रहा है।

रूस के रक्षा मंत्री से मिलेंगे राजनाथ
कार्यक्रम के मुताबिक, 4 सितंबर को भारतीय रक्षा मंत्री रूस के डिफेंस मिनिस्टर सर्गेई शोईजू से मिलेंगे। इस मीटिंग के बाद रूसी सेना के आला अफसरों से भी उनकी मीटिंग होगी। इस दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा उपकरणों के सौदों पर बातचीत होगी। राजनाथ का रूस दौरे से कुछ वक्त पहले भारत ने रूस, चीन और पाकिस्तान के साथ होने वाली मिलिट्री एक्सरसाइज में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था।

तनाव, लेकिन बातचीत नहीं
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, चीन के रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंग्हे भी बुधवार को ही मॉस्को पहुंचेंगे। सूत्रों के मुताबिक, राजनाथ और वेई की मुलाकात शेड्यूल में नहीं है। लद्दाख में दोनों देशों के बीच तनाव को हल करने के लिए कई दौर की डिप्लोमैटिक और मिलिट्री लेवल बातचीत हो चुकी है। हालांकि, इसका अब तक कोई पुख्ता नतीजा सामने नहीं आया, क्योंकि तनाव बरकरार है। रूस ने कहा है कि दोनों देशों को बातचीत के जरिए विवाद सुलझाना चाहिए। सिंह जून में भी मॉस्को गए थे। 10 सितंबर को एससीओ के विदेश मंत्रियों की मीटिंग होनी है। रूस ने इसके लिए भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर को न्योता भेजा है।

इन दो रक्षा सौदों पर बातचीत होगी
राजनाथ के रूस दौरे में एके-203 रायफल के भारत में निर्माण पर अंतिम फैसला हो सकता है। इसके अलावा भारत रूस से कहेगा कि एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम तय वक्त पर सौंपा जाए। करार के मुताबिक, इस डिफेंस सिस्टम का पहला बैच भारत को 2021 के आखिर तक मिलना है। 2018 में भारत ने रूस से एस-400 की पांच यूनिट खरीदने की डील की थी।

0



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here