PUBG Mobile इन 2 देशों में आज भी है आउट, लेकिन इन 7 देशों ने दिया सेकेंड चांस


PUBG Mobile को भारत में सितंबर 2020 को बैन किया गया, जिसनें भारतीय मोबाइल गेमर्स के बीच हड़कंप मचा दिया। इसमें कोई शक नहीं कि पबजी मोबाइल का भारत में बहुत विशाल यूज़रबेस था और सरकार के बैन के फैसले ने सभी को काफी निराश और हताश किया। हालांकि अब पिछले कुछ महीनों से गेम के PUBG Mobile India के नाम से वापसी करने की अटकलें भी लगाई जा रही हैं। पबजी मोबाइल के चलते भारत समेत कई अन्य देशों में मोबाइल गेमिंग में बड़ा उछाल देखने को मिला। हालांकि, चोरी, मार-पीट, खदखुशी और यहां तक कि हत्याओं जैसी सैंकड़ों ऐसी घटनाएं भी देखने को मिली, जिनके चलते गेम को बच्चों और युवाओं के लिए खतरनाक माना गया। भारत में भले ही गेम को चीनी कनेक्शन या यूज़र्स की प्राइवेसी पर सेंध के चलते बैन किया गया हो, लेकिन क्या आप जानते हैं कि PUBG Mobile भारत के अलावा और भी कई देशों में बैन हुआ है और कुछ में अभी तक बैन है। आइए जानते हैं इन देशों के नाम।
 

इन देशों ने लगाया था PUBG Mobile पर बैन

 

चीन

इस देश के नाम को पढ़ कर शायद आप हैरान हो गए होंगे, लेकिन यह सच है कि चीन ने पबजी मोबाइल पर बहुत पहले बैन लगा दिया था। और भी अधिक हैरान करने वाली बात यह है कि गेम के मोबाइल वर्ज़न को चीन की गेम कंपनी Tencent Games ही संभालती है। दरअसल, चीन में गेम के बैन होने का कारण इसमें खूनखराबे का शामिल होना है। पबजी मोबाइल के यूज़रबेस में कम उम्र के बच्चे भी शामिल होते हैं। यही कारण है कि गेम को चीन में बैन किया गया। हालांकि Tencent Games ने PUBG Mobile को बंद कर नया Game for Peace मोबाइल गेम रिलीज़ कर दिया, जो कुछ बदलावों के साथ लगभग पबजी मोबाइल जैसा ही है।
 

नेपाल

पिछले साल नेपाल की मेट्रोपॉलिटन क्राइम डिवीज़न ने काठमांडू के डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की थी, जिसमें पबजी मोबाइल का बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ने की बात कही गई थी। कोर्ट ने इस याचिका पर फैसला सुनाते हुए अप्रैल 2020 में PUBG Mobile पर बैन लगा दिया था। हालांकि प्रतिबंध के बाद देश में कई याचिकाएं दायर हुई, जिसके बाद मजबूरन कोर्ट को इस प्रतिबंध को हटाना पड़ा।
 

पाकिस्तान

पाकिस्तान में भी एक बार पबजी मोबाइल बैन हो चुका है। PTA, जिसे पाकिस्तान टेलीकम्युनिकेशन अथॉरिटी कहा जाता है, ने कई शिकायतें मिलने पर पबजी पर बैन लगा दिया था। वहां भी इस गेम के बैन के पीछे का कारण बच्चों पर पड़ने वाला बुरा असर ही था। शिकायतों में कहा गया था कि गेम का बच्चों की सेहत पर खराब असर पड़ रहा है और इसकी लत भी उनके लिए काफी नुक्सानदेह है। हालांकि नेपाल की तरह पाकिस्तान में भी बैन हटाने के लिए सैंकड़ों याचिकाएं दायर की गई, जिसके बाद इस्लामाबाद हाई कोर्ट को प्रतिबंध हटाना पड़ा।

अन्य देश
कोरिया, इज़राइल, ईराक और जॉर्डन में भी PUBG Mobile बैन हो चुका है। इन देशों में भी प्रतिबंध के पीछा का कारण हिंसा, खुदखुशी और बच्चों की सेहत पर पड़ने वाला बुरा असर बताया गया था। हालांकि बाद में इन सभी देशों में पबजी मोबाइल पर लगा बैन हटा दिया गया।
 

इन देशों में आज भी बैन है PUBG Mobile

 

भारत

जैसा कि हमने बताया कि PUBG Mobile को 118 अन्य ऐप्स और गेम्स के साथ भारत में सितंबर 2020 में बैन कर दिया गया था। भारत में इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी नियम 2009 के प्रावधानों के तहत यह प्रतिबंध लगाया गया था। सरकार का दावा था कि बैन किए गए ऐप्स “देश की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरनाक” हैं। आईटी मंत्रालय का कहना था कि प्रतिबंध “विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें प्राप्त करने के बाद लगाया गया था, जिसमें एंड्रॉयड और आईओएस पर उपलब्ध कई मोबाइल ऐप्स के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्टें शामिल थीं, जिनमें यूज़र्स के डेटा को अनधिकृत तरीके से भारत के बाहर स्थापित सर्वरों पर भेजना भी शामिल था। गेम देश में आज भी बैन है। हालांकि PUBG Mobile की मूल कंपनी Krafton इसे नए नाम (PUBG Mobile India) के साथ देश में वापस लाने की तैयारी में हैं। हालांकि यह कब रिलीज़ होगा, इसके ऊपर अभी तक कोई स्पष्टता नहीं है। 
 

अफ़ग़ानिस्तान

अफ़ग़ानिस्तान की दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ATRA) ने PUBG पर बैन लगाया था। बैन लगाने के लिए ATRA ने देश के कई मंत्रालयों, शिक्षा संस्थानों, साइबरसिक्योरिटी एक्सपर्ट्स, मनोवैज्ञानिकों समेत माता-पिता से सलाह ली थी, जिसके बाद गेम पर प्रतिबंध लगाया गया। देश में आज भी बैन को हटाया नहीं गया है, SportsKeeda की रिपोर्ट कहती है कि ATRA के एक्टिंग हेड ओमर मंसूर अंसारी का कहना है कि इस समस्या के लिए एक स्थायी समाधान तलाशा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here