Spread the love


9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना के बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम इंग्लैंड दौरे पर जा चुकी है। इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान ने तीन टेस्ट और तीन वनडे सीरीज खेली थी। (फाइल फोटो)

  • पाकिस्तान में घरेलू क्रिकेट 30 सितंबर से, कायदे-आजम ट्रॉफी का आयोजन 18 अक्टूबर से अगले साल 5 जनवरी तक कराची में होगा
  • पाकिस्तान के मुख्य कोच ने कहा- इंग्लैंड में आखिरी टी-20 मैच में सरफराज खेलने के लिए तैयार नहीं थे

पाकिस्तान की सीनियर और ए टीम नवंबर के अंतिम हफ्ते में न्यूजीलैंड दौरे पर जा सकती है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने दोनों टीमों के दौरे की तैयारी कर रही है। इसके साथ ही पीसीबी के अधिकारियों की टेंशन भी बढ़ गई है कि सीनियर खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी में घरेलू क्रिकेट के रोमांच कम हो जाएगा।

पीसीबी के सूत्र ने एजेंसी को बताया कि पीसीबी नवंबर के अंतिम हफ्ते में सीनियर और ए टीम दोनों के लिए 40 से 45 खिलाड़ियों को भेजने की योजना तैयार कर रहा है। न्यूजीलैंड में कोरोना के सख्त नियम और प्रोटोकॉल को देखते हुए यह फैसला किया गया है। वहां पर खिलाड़ियों को 14 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। इसके लिए टीम को पहले जाना होगा। ताकि क्वारैंटाइन पीरियड पूरा करने के बाद खिलाड़ियों को ट्रेनिंग के लिए पर्याप्त समय मिल सके।

घरेलू सत्र इसी महीन से
पाकिस्तान ने घरेलू सीजन के कार्यक्रम भी जारी कर दिए हैं। पाकिस्तान की घरेलू प्रतियोगिता कायदे-आजम ट्रॉफी के मैच 18 अक्टूबर से अगले साल 5 जनवरी तक कराची में खेले जाने हैं। घरेलू सत्र हालांकि नेशनल टी-20 कप से शुरू होगा, जिसे 30 सितंबर से 18 अक्टूबर तक मुल्तान और रावलपिंडी में खेला जाएगा। ऐसे में अधिकारियों की चिंता है कि न्यूजीलैंड दौरे के कारण घरेलू टूर्नामेंट का रोमांच खत्म हो जाएगा।

सीनियर टीम टी-20, टेस्ट और वनडे सीरीज खेलेगी
पाकिस्तान की सीनियर टीम न्यूजीलैंड दौरे पर टी-20 सीरीज के साथ टेस्ट और वन-डे सीरीज में हिस्सा लेगी। जबकि पाकिस्तान की ए टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ 4 दिवसीय मैचों की शृंखला खेलनी है।

पाकिस्तान कोरोना के बीच कर चुकी है इंग्लैंड दौरा
पाकिस्तान क्रिकेट टीम कोरोना के बीच इंग्लैंड दौरे पर जा चुकी है। पाकिस्तान ने अगस्त में हुए दौरे के लिए एक महीने पहले ही इंग्लैंड पहुंच गई थी। टीम को 14 दिन क्वारैंटाइन रहना पड़ा था। इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान ने तीन टेस्ट और तीन वनडे सीरीज खेली थी।

भविष्य को लेकर चिंतित थे सरफराज
पाकिस्तान के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक ने जियो टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा कि इंग्लैंड दौरे पर पूर्व कप्तान सरफराज अहमद टी-20 के अंतिम मैच खेलने के लिए तैयार नहीं थे। उन्होंने कहा कि वे पूरे दौरे में नहीं खिलाए जाने के कारण अपने भविष्य को लेकर चिंतित थे। कप्तान और उनके समझाने पर वह अंतिम मैच खेलने पर तैयार हुए।

उन्होंने कहा कि अगर मैं उनकी स्थिति में होता, तो मुझे भी ऐसा ही लगता। एक खिलाड़ी आशंकित और अनिश्चित महसूस करता है, अगर उसे पहले मैच में नहीं खेलने के बाद दौरे के आखिरी मैच में खेलने के लिए कहा जाता है।

0



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here