कोरोना वायरस की वैक्सीन आने के बाद से दुनिया में उम्मीद की किरण चमकी. दुनियाभर के कई देशों ने टीकाकरण को मंजूरी भी दे दी है. इस अच्छी खबर के साथ साथ एक ऐसी खबर सामने आ रही है जिसने पूरी दुनिया को एक बार फिर अलर्ट मोड पर डाल दिया है.

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया म्यूटेशन सामने आया है. यह पहले के वायरस से 70% ज्यादा तेजी से फैलता है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की ओर से पुष्टि के बाद दुनिया के कई देशों ने तत्काल प्रभाव से ब्रिटेन आने-जाने वाली फ्लाइट्स पर बैन लगा दिया है.

कोरोना के नए स्ट्रेन की खबरों पर भारत की नजरें भी टिकीं हुई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय इस पर नजर बनाए हुए है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि घबराने की जरूरत नहीं है, सरकार नजर रख रही है. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर तुरंत रोक लगाने को कहा है. अब देखना होगा कि केंद्र सरकार इसे लेकर क्या कदम उठाती है.

पहले के वायरस के मुकाबले किस तरह खतरनाक?

कोरोना वायरस के इस नए स्ट्रेन को लेकर ब्रिटिश पीएम ने बताया कि कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन सामने आया है, जो पूर्व के वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत अधिक तेजी से फैलता है. ब्रिटिश हेल्थ एक्पर्ट्स के मुताबिक यह वायरस इतनी तेजी से फैलता है कि स्थिति ‘नियंत्रण से बाहर’ है. अधिकारियों ने कहा कि इस बात के अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिले हैं यह वायरस पहले से वायरस से ज्यादा घातक है.

क्या मौजूदा वैक्सीन इस वायरस पर असर करेगी?

एक्सपर्ट्स की माने तो नए वायरस का वैक्सीन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. वहीं ब्रिटिश हेल्थ डिपार्टमेंट का कहना है कि कोरोना वैक्सीन के पूरी तरह से प्रभावी साबित होने तक इंग्लैंड की आबादी के लगभग एक तिहाई हिस्से को प्रभावित करने वाले सख्त नियम तब तक बने रह सकते हैं. ब्रिटेन इस नए स्ट्रेन को लेकर WHO को भी सूचित कर दिया है. अभी इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि यह नया स्ट्रेन ब्रिटेन से ही शुरू हुआ है या फिर कहीं बाहर से आया है.

ब्रिटेन में लगाया गया और भी सख्त लॉक डाउन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस के नए स्वरूप के तेजी से फैलने के बाद क्रिसमस से पहले दक्षिणी इंग्लैंड में बाजारों को बंद करने और लोगों के जमावड़े पर रोक लगाने की घोषणा की है. जॉनसन ने श्रेणी-4 के सख्त प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से लागू करने का एलान किया. क्रिस्मस को लेकर सरकार की ओर से भी ढील दी गई थी उसे वाप ले लिया गया है.

ब्रिटिश स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने कहा, ”कोरोना के नए स्ट्रेन के सामने आने के बाद घर पर बने रहने का आदेश सही है. क्रिसमस पर परिवारिक समारोहों पर प्रतिबंध और गैर-आवश्यक दुकानों को बंद करने के लिए कहा गया है. दुर्भाग्य से नया स्ट्रेन नियंत्रण से बाहर है. हमें इसे नियंत्रण में रखना होगा.”

इसे भी पढ़ें
ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया प्रकार, सख्त लॉकडाउन लागू, ‘क्रिसमस बबल’ कार्यक्रम भी रद्द
Coronavirus: इटली और जर्मनी में क्रिसमस की खुशियों पर फिरा पानी, कहीं लॉकडाउन तो कहीं लगाई गईं खास पाबंदिया



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here