Spread the love


इंडियन प्रीमियर लीग सीजन 13 के चौथे मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच रनों का अंबार देखने को मिला. राजस्थान रॉयल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए. लक्ष्य का पीछा करते हुए धोनी की टीम ने राजस्थान रॉयल्स को कड़ी टक्कर तो दी, लेकिन टीम 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 200 रन ही बना पाई. राजस्थान रॉयल्स के लिए महज 32 गेंद में 74 रन की पारी खेलने वाले संजू सैमसन को मैन ऑफ दी मैच का अवॉर्ड दिया गया. लेकिन अगर आर्चर ने आखिरी ओवर में चार छक्के नहीं जड़े होते तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था.

ऑर्चर ने लगाए चार छक्के

सीएसके ने टॉस जीतकर राजस्थान को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया. अंडर-19 विश्व कप में बल्ले से धमाल माचने वाले यशस्वी जयसवाल का आईपीएल डेब्यू अच्छा नहीं रहा और वह महज 6 रन बनाकर दीपक चाहर की गेंद पर आउट हो गए

इसके बाद आए सैमसन ने आते ही अपने तेवर दिखाने शुरू किए और तेजी से रन बनाए. संजू सैमसन ने महज 19 गेंदों पर अपने 50 रन पूरे किए. इंडियन प्रीमियर लीग में यह सैमसन का सबसे तेज अर्धशतक है. राजस्थान रॉयल्स ने आठ ओवरों में एक विकेट खोकर 96 रन बना लिए थे.

सैमसन को देखकर दूसरे छोर पर खड़े स्मिथ भी जोश में आ गए और उन्होंने बड़े शॉट लगाने शुरू कर दिए. हालांकि एंगीडी स्मिथ और सैमसन की पार्टनरशिप को तोड़ने में कामयाब रहे. सैमसन 72 रन बनाकर आउट हुए.

संजू के आउट होते ही ना सिर्फ राजस्थान रॉयल्स की रनों की रफ्तार थम गई बल्कि एक छोर से विकेट गिरने का सिलसिला भी शुरू हो गया. राजस्थान रॉयल्स के लिए पहला मैच खेल रहे डेविड मिलर खाता नहीं खोल पाए जबक रॉबिन उथप्पा भी सिर्फ पांच रन बना सके.

19वें ओवर में स्मिथ के आउट होने से राजस्थान के बड़े स्कोर की उम्मीदें खत्म होती हुई दिखाई दी. लेकिन यहीं से आर्चर ने ऐसा कमाल कर दिया जो आखिरी में दोनों टीमों के बीच हार और जीत का अंतर पैदा हुआ.

अपने गेंदबाजी के लिए खास पहचान बना चुके आर्चर के सामने एंगीडी 20वां ओवर लेकर आए. आर्चर ने पहली गेंद पर छक्का जड़ दिया. दूसरी गेंद पर भी आर्चर ने छक्का जड़ा. एंगीडी दबाव में आ गए और जिन्होंने तीसरी और चौथी गेंद नो बॉल फेंकी, आर्चर ने दोनों गेंदों पर भी छक्के बरसा दिए. एंगिडी ने आखिरी ओवर में 30 रन खर्च किए. आर्चर 8 गेंद में 27 रन बनाकर नाबाद रहे और उन्होंने टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचाया दिया.

चेन्नई के लिए सैम कुरैन ने तीन सफलताएं हासिल कीं. चहर, नगिदी और पीयूष चावला के हाथ एक-एक विकेट आया.

चेन्नई की सधी शुरुआत

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीएसके शुरुआत अच्छी रही. शेन वाटसन और मुरली विजय की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 56 रन जोड़े. राहुल तेवतिया की गेंद पर वाटसन 33 रन बनाकर आउट हो गए. वाटसन के आउट होते ही मुरली विजय भी चलके बने. विजय जब 21 के स्कोर पर थे तो उन्हें श्रेयस गोपाल ने सैम कुरैन के हाथों कैच कराया.

इन दोनों के जाने के बाद चेन्नई का स्कोर 58 रनों पर दो विकेट हो गया और चेन्नई दबाव में आ गई. राजस्थान को पहली सफलता दिलाने वाले तेवतिया को सैम कुरैन ने अपने हाथ लिया और दो छक्के सहित छह गेंदों पर 17 रन बनाए. इसी ओवर में एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में कुरैन स्टम्पिंग हो गए.

यही हाल अंबाती रायडू की जगह आए ऋतुराज गायकवाड़ का हुआ. वह पहली ही गेंद पर बड़े शॉट के लिए गए और सैमसन ने स्टम्प करने में कोई गलती नहीं की. अब सीएसके का स्कोर नौ ओवरों में 77 रनों पे चार विकेट था. यहां से जीत काफी मुश्किल लग रही थी.

केदार जाधव ने 22 रन की पारी खेलकर दूसरे छोर पर खड़े डु प्लेसिस का साथ देने की कोशिश की. डु प्लेसिस ने धोनी के साथ मिलकर चेन्नई को अंत तक मैच में बनाए रखा. डु प्लेसिस ने साथ छक्कों की मदद से 37 गेंद में 72 रन की पारी खेली. महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में तीन छक्के जड़ते हुए नाबाद 29 रन की पारी खेली, पर सीएसके की टीम लक्ष्य से 16 रन पीछे रह गई.

स्टीव स्मिथ और संजू सैमसन ने किया कमाल, इस सीजन में बेहद ही खास मुकाम हासिल करने वाली पहली जोड़ी बनी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here