IPL 2020: मांकडिंग पर अपने दावे से पलटे अश्विन, कोच पोंटिंग का दबाव या कुछ और?
Spread the love


दिल्ली कैपिटल्स के रविचंद्रन अश्विन ने बैंगलोर के देवदत्त पडिक्कल को आउट किया.

दिल्ली कैपिटल्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू (Royal Challengers Bangalore vs Delhi Capitals) के मैच में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) का बदला रूप देखने को मिला. उनके पास इस मैच में एरॉन फिंच (Aaron Finch) को मांकडिंग (Mankading) कर आउट करने का मौका था. अश्विन ने ऐसा नहीं किया. ऐसा शायद दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग (Rickey Ponting) की वजह से हुआ. 

नई दिल्ली. आईपीएल 2020 (IPL 2020) में बहुत कुछ बदला हुआ है. टीमों की सूरत से लेकर खेलने की जगह तक… सब कुछ. लेकिन लगता है इस बार खिलाड़ियों की सोच भी बदल गई है. तभी तो शायद कुछ महीने तक मांकडिंग (Mankading) की तीखी वकालत करने वाले रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के इरादे से लेकर दावे सब उलट गए हैं. जिस अश्विन ने आईपीएल शुरू होने से कुछ दिन पहले बल्लेबाजों को मांकडिंग की चेतावनी दी थी, उन्हें जब सोमवार को यह मौका मिला तो उन्होंने खुद ऐसा नहीं किया. यह भी माना जा रहा है कि रविचंद्रन अश्विन ने कोच रिकी पोंटिंग (Rickey Ponting) के दबाव के कारण मांकडिंग नहीं की.

आईपीएल 2020 में सोमवार को दिल्ली कैपिटल्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore vs Delhi Capitals) का मैच हुआ. दिल्ली कैपिटल्स ने मैच में पहले बैटिंग की. उसने मार्कस स्टोयनिस (53), पृथ्वी शॉ (42), ऋषभ पंत (37) और शिखर धवन (32) की मदद से 4 विकेट पर 196 रन बनाए. इसके जवाब में जब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) ने 2.3 ओवर में 18 रन बना लिए थे, तब अश्विन के पास एरॉन फिंच को आउट करने का मौका मिला, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) आरसीबी की पारी का तीसरा ओवर लेकर आए. उन्होंने शुरुआती तीन गेंद पर तीन रन दिए. जब वे चौथी गेंद के लिए क्रीज के पास आए तो देखा कि उनके गेंद फेंकने से पहले ही एरॉन फिंच रन के लिए आगे निकल रहे थे. अश्विन के पास नॉनस्ट्रारइकर एंड के इस बल्लेबाज को आउट करने का पूरा मौका था. लेकिन उन्होंने फिंच को मांकडिंग नहीं की, बल्कि वे खड़े होकर मुस्कुराने लगे. इसके बाद वे फिंच को आउट किए बिना दोबारा बॉलिंग करने के लिए वापस चले गए.

रविचंद्रन अश्विन के एरॉन फिंच को मांकडिंग ना करने के बाद सोशल मीडिया पर उनके इस रुख पर चर्चा चल पड़ी. किसी ने अश्विन को उनकी उस चेतावनी की याद दिलाई, जिसमें उन्होंने बल्लेबाजों को फिर से मांकडिंग करने की चेतावनी दी थी. क्रिकेटप्रेमी जानते हैं कि अश्विन ने पिछले साल किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से गेंदबाजी करते हुए राजस्थान रॉयल्स के जॉस बटलर को मांकडिंग कर आउट किया था.

कोच रिकी पोंटिंग का दबाव…
पिछले दिनों खबर आई थी कि रिकी पोंटिंग और रविचंद्रन अश्विन के बीच मांकडिंग को लेकर बहस हुई थी. रिकी पोंटिंग का कहना था कि बिना चेतावनी दिए बल्लेबाज को मांकडिंग नहीं करना चाहिए. पोंटिंग इसे खेल भावना के खिलाफ मानते हैं. उन्होंने अश्विन से ऐसा नहीं करने को कहा था. तब यह भी कहा गया था कि अश्विन नियमों का हवाला देकर बिना चेतावनी दिए ही मांकडिंग करने को सही बता रहे थे. लेकिन बैंगलोर के मैच से यह साबित हो गया कि अश्विन बदल चुके हैं. ऐसा क्यों और कैसे हुआ, इसका खुलासा बाकी है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here