IPL 2020: देवदत्त पडिक्कल की धमाकेदार फिफ्टी, क्या बदलेगी RCB और कोहली की किस्मत
Spread the love


देवदत्त पडिक्कल ने 56 रन की पारी में 8 चौके लगाए.

देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Padikkal) ने आईपीएल 2020 (IPL 2020) के अपने पहले ही मैच में शानदार फिफ्टी जमाई. उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) की ओर से खेलते हुए आक्रामक रुख अपनाया और मैच के दूसरे ओवर में दो और चौथे ओवर में तीन चौके लगाए.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 21, 2020, 11:04 PM IST

नई दिल्ली: विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) को 2020 में नया सितारा मिल गया है. देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Padikkal) नामक इस युवा सितारे ने आईपीएल 2020 () के अपने पहले ही मैच में तेवर दिखा दिए हैं. 20 साल के इस युवा पर कप्तान विराट कोहली को भी पूरा भरोसा है. तभी तो उन्होंने आईपीएल 2020 के पहले ही मैच में देवदत्त पडिक्कल को ओपनिंग की जिम्मेदारी सौंपी. 20 साल के पडिक्कल को जैसे इसी मौके का इंतजार था. उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए फिफ्टी ठोक दी.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) की टीम सोमवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ उतरी. सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के कप्तान डेविड वॉर्नर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी. उनका यह फैसला टीम को रास नहीं आया. दूसरी ओर, बैंगलोर की टीम आरसीबी (RCB) की ओर से ओपनिंग करने उतरे देवदत्त पडिक्कल और एरॉन फिंच ने पावरप्ले में 53 और शुरुआती 10 ओवर में 86 रन ठोक दिए.

देवदत्त ने ठोकी पहली फिफ्टी
देवदत्त पडिक्कल ने आईपीएल के अपने पहले ही मैच में शानदार फिफ्टी जमाई. उन्होंने शुरुआत से आक्रामक रुख अपनाया और मैच के दूसरे ही ओवर में संदीप सिंह की गेंद पर दो चौके जमाए. पडिक्कल ने मैच के चौथे ओवर में टी. नटराजन की गेंद पर तीन चौके लगाए. उनकी बल्लेबाजी की बदौलत बैंगलौर ने पावरप्ले में बिना विकेट खोए 53 रन बनाए. इसमें 37 रन पडिक्कल और 12 रन एरॉन फिंच के बल्ले से निकले.

गावस्कर ने की एप्रोच की तारीफ
स्टार स्पोर्ट्स पर कॉमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने देवदत्त पडिक्कल की जमकर तारीफ की. उन्होंने खासकर एप्रोच की सराहना की. गावस्कर ने कहा, ‘युवा बल्लेबाज होकर भी मैच की पहली गेंद का सामना करना पडिक्कल के आत्मविश्वास का सबूत है. खासकर जब दूसरी छोर पर एरॉन फिंच जैसा अनुभवी साथी हो.’

सलामी जोड़ी की चिंता दूर की
देवदत्त पडिक्कल 11वें ओवर की आखिरी गेंद पर आउट हुए. वे विजय शंकर की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में क्लीन बोल्ड हुए. उन्होंने 42 गेंद पर 56 रन की पारी खेली और 8 चौके लगाए. पडिक्कल ने शानदार बैटिंग कर सिर्फ इस मैच के लिए नहीं, बल्कि पूरे टूर्नामेंट के लिए अपनी टीम की सलामी जोड़ी की चिंता दूर कर दी है. अब देखना है कि क्या आरसबी और विराट कोहली की किस्मत बदलेगी, जो अब तक एक भी खिताब नहीं जीत सकी है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here