इंदौर डबल मर्डर: ज्योति प्रसाद और नीलम


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इंदौर
Updated Mon, 21 Dec 2020 12:33 PM IST

इंदौर डबल मर्डर: ज्योति प्रसाद और नीलम

इंदौर डबल मर्डर: ज्योति प्रसाद और नीलम
– फोटो : सोशल मीडिया

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

इंदौर के रुक्मिणी नगर में हुए डबल मर्डर से हर कोई हैरान है। कुछ लोग तो यहां तक बता रहे हैं कि पुलिसकर्मी ज्योति प्रसाद शर्मा अपनी बेटी की हर ख्वाहिश पूरी करते थे। यहां तक की आधी रात में भी उसकी इच्छा पूरी करने में लगे रहते। किसी ने सोचा तक नहीं था कि वह बेटी ही उनकी जान ले लेगी। 

रुक्मिणी नगर में किराना दुकान चलाने वाले शिव शर्मा ने बताया कि एक बार बिटिया ने रात 12 बजे पिज्जा मांगा था तो ज्योति भैया रात में सारा सामान ढूंढकर ले आए। दरअसल, उस वक्त शहर में ऑनलाइन जैसा कुछ नहीं था। पिज्जा की दुकानें भी जल्द बंद हो जाती थीं। ऐसे में बेटी की जिद पूरी करने के लिए ज्योति भैया रात में ही निकल गए। सारा सामान लेकर घर आए और खुद पिज्जा बनाया। वह अपनी बेटी को बहुत चाहते थे, लेकिन जब डीजे के बारे में जानकारी मिली तो नाराज हो गए। उनका कहना था कि जिस बेटी के लिए इतना कर रहा हूं, वह हमारी इज्जत खराब करना चाहती है। 

पुलिस के मुताबिक, अपने मां-बाप की हत्या को अंजाम देने वाली बेटी अब बाल सुधार गृह में है। वह गुमसुम बैठी रहती है। किसी से बातचीत भी नहीं करती है। हालांकि, उसने अपने प्रेमी के बारे में एक-दो बार जरूर जानना चाहा। अब उसे मलाल हो रहा है कि अपने मां-बाप की हत्या करके वह बहुत बड़ी गलती कर बैठी है। 

रुक्मिणी नगर के लोग इस डबल मर्डर से अब तक उबर नहीं पाए हैं। इलाके में प्रॉपर्टी का काम करने वाले विजय पवार कहते हैं कि माता-पिता और बेटी तीनों एक साथ मॉर्निंग वॉक करने जाते थे। कभी लगता नहीं था कि उनके बीच इतना ज्यादा अलगाव है। लॉकडाउन से पहले तक उनके घर में सबकुछ अच्छा था। कभी सुना भी नहीं था कि ज्योति प्रसाद नशा करते थे। वे बहुत अच्छे थे। हर किसी की मदद करते थे।


 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here