Spread the love


  • Hindi News
  • National
  • India US: Rajnath Singh | India US 2+2 Dialogue Latest News Update; Mike Pompeo And Defence Minister Mark Esper Arrive In Delhi

नई दिल्लीएक घंटा पहले

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के साथ उनकी पत्नी सुसेन भी भारत आई हैं।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भारत के साथ होने वाली 2+2 मंत्रिस्तरीय बातचीत के लिए सोमवार को दिल्ली पहुंचे। उनके साथ पत्नी सुसेन भी आई हैं। दोनों देशों के बीच मंगलवार को बैठक होगी। इसमें रक्षा सहयोग से जुड़े अहम समझौतों पर दस्तखत हो सकते हैं। बैठक में चीन का मुद्दा छाया रह सकता है।

भारत रवाना होने से पहले माइक पोम्पियो ने ट्वीट कर बताया था कि वे भारत, श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया की यात्रा पर जा रहे हैं। उन्होंने इसका मकसद सहयोगियों के साथ मुक्त और मजबूत इंडो पेसिफिक एरिया बनाने के लिए साझा लक्ष्य तैयार करना बताया। उन्होंने यह मौका देने के लिए आभार भी जताया।

भारत की ओर से इस बातचीत में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर शामिल होंगे। इस बातचीत में भारत समेत पूरे हिंद प्रशांत क्षेत्र और विश्व में स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक रणनीतिक साझेदारी बनाने पर चर्चा होगी। यह इस तरह की तीसरी बैठक है। इससे पहले 2018 में दिल्ली और 2019 में वॉशिंगटन में दोनों देशों में बातचीत हुई थी।

अमेरिकी रक्षा मंत्री माइक पेंस भी दिल्ली पहुंचे

भारत-अमेरिका टू प्लस टू डायलॉग के लिए अमेरिकी रक्षा मंत्री माइक पेंस सोमवार को नई दिल्ली पहुंचे। यहां पेंस को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पेंस से मुलाकात की। दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत भी हुई। चीन के साथ तनाव के बीच भारत-अमेरिका की यह मीटिंग खासी अहम मानी जा रही है। दोनों देशों के विदेश और रक्षा मंत्री आपस में चर्चा करेंगे, जिसमें आपसी सहयोग और रक्षा समझौतों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है।

4 मुद्दों पर होगी बात

  1. क्षेत्रीय सुरक्षा सहयोग
  2. रक्षा क्षेत्र की सूचनाएं साझा करना
  3. परस्पर सैन्य बातचीत
  4. रक्षा व्यापार

चीन के साथ तनाव के बीच अहम बैठक

भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए यह बैठक काफी अहम है। माना जा रहा है कि बैठक में चीन और पाकिस्तान पर ही ज्यादा फोकस किया जा सकता है। चीन से मिल रही चुनौती की वजह से अमेरिका भी उस पर ज्यादा आक्रामक है।

हाल ही में अमेरिका ने भारत से अपील की थी कि वह चीनी कंपनियों को 5G ट्रायल से बाहर रखे। ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने भारत में होने वाले 5G ट्रायल से चीन की हुवावे और जेडटीई को हटाने की बात कही है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here