In Lucknow, tokens were obtained by sanitizing with ultraviolet technology, empty metro ran in Delhi, people said - time will be saved | लखनऊ में अल्ट्रावॉयलेट तकनीक से सैनिटाइज किए टोकन मिले; दिल्ली में शुरुआती ट्रेनें खाली दौड़ीं
Spread the love


  • Hindi News
  • National
  • In Lucknow, Tokens Were Obtained By Sanitizing With Ultraviolet Technology, Empty Metro Ran In Delhi, People Said Time Will Be Saved

एक घंटा पहलेलेखक: प्रियंक द्विवेदी

  • कॉपी लिंक

लखनऊ में सोमवार को मेट्रो सेवाएं एक बार फिर से शुरू हो गई। लेकिन यात्री बेहद कम दिखे। मेट्रो स्टेशन पर भी काफी इंतजाम किए गए थे।

  • कोरोनो के बीच करीब साढ़े पांच महीने बाद सोमवार से मेट्रो का सफर शुरू हुआ
  • जयपुर में मेट्रो अभी शुरू नहीं हुई, अब श्राद्ध पक्ष के शुरू होने के आसार

कोरोना के बीच करीब साढ़े पांच महीने बाद सोमवार सुबह से मेट्रो एक बार फिर पटरी पर दौड़ी। कोरोना से पहले दिल्ली, नोएडा और लखनऊ मेट्रो फुल रहती थीं, लेकिन आज तीनों जगह खाली नजर आईं। गिनती के यात्री बैठे थे, वह भी दूर-दूर। कई कोच में तो एक सीट पर एक ही यात्री बैठा हुआ था। कोरोना के बीच मेट्रो के पहले दिन के सफर पर ग्राउंड रिपोर्ट पढ़िए…

लखनऊ: बिना यात्रियों के ही रवाना हुई पहली ट्रेन
कोरोना की शुरुआत के साथ ही 21 मार्च को लखनऊ में मेट्रो बंद कर दी गई थी। 171 दिन बाद सोमवार को जब पहली मेट्रो मुंशी पुलिया से एयरपोर्ट तक चली तो हजरतगंज स्टेशन तक ट्रेन में एक भी यात्री नहीं था। लेकिन, समय बीतने के साथ यात्री आने लगे। ज्यादातर महिलाएं सफर कर रही थीं। उनका कहना था कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट में मेट्रो ज्यादा सुरक्षित है।

लखनऊ में मेट्रो स्टेशन पर जगह-जगह रंगोली बनाकर लोगों को अवेयर किया गया।

लखनऊ में मेट्रो स्टेशन पर जगह-जगह रंगोली बनाकर लोगों को अवेयर किया गया।

दूसरी खास बात यह दिखी कि मेट्रो स्टेशन गेट की एंट्री से लेकर सफर तक में कोरोना का असर नजर आया। जहां पहले गेट और गैलरी में फिल्मों के पोस्टर और एड लगे रहते थे। वहीं, अब कोरोना से बचाव के पोस्टर लगे हैं। एंट्री पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग, आरोग्य सेतु और मास्क की जांच के बाद ही एंट्री दी गई। टोकन को भी अल्ट्रावायलेट (यूवी) तकनीक से सैनिटाइज किया जा रहा है। काउंटर पर बैठे एक कर्मचारी ने बताया कि लखनऊ मेट्रो देश की पहली मेट्रो है जहां पर टोकन को यूवी तकनीक से सैनिटाइज किया जा रहा है।

हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर टोकन और कार्ड के लिए ऑटोमैटिक मशीन चालू थी। उसके पास खड़ी महिला कर्मचारी यात्रियों को टोकन लेने के बारे में बता रही थी। स्टेशन पर पहुंचने पर गार्ड ने थर्मल स्क्रीनिंग कर टेम्परेचर चेक किया। गार्ड ने अपने पास मास्क का बंडल भी रखा था। पूछा गया तो कहने लगा कि यह मास्क मेट्रो कार्ड खरीदने पर फ्री है। अगर किसी यात्री के पास मास्क नहीं हैं तो उसे भी दिया जाएगा।

लखनऊ मेट्रो में ज्यादातर सीटें खाली नजर आईं।

लखनऊ मेट्रो में ज्यादातर सीटें खाली नजर आईं।

दिल्ली: लोगों ने कहा- पैसा और समय दोनों बचेंगे
दिल्ली की लाइफलाइन मेट्रो भी दोबारा दौड़ी। यहां दो शिफ्ट में मेट्रो को चलाया जा रहा है। पहली सुबह 7 से 11 बजे तक। दूसरी शिफ्ट शाम 4 बजे से रात 8 बजे तक चलेगी। दिल्ली की खचाखच रहने वाली मेट्रो सोमवार को लगभग खाली दौड़ी। एक-एक सीट पर एक-एक यात्री बैठे हुए थे। हुडा सिटी सेंटर जा रही कृतिका थोड़ी नाराज थीं। उन्होंने कहा कि सरकार को पहले ही मेट्रो चला देनी चाहिए थी। कम से कम ऑफिस आने-जाने में तो दिक्कत नहीं होती। वे कहती हैं कि मेट्रो का सफर सेफ होता है और वक्त भी बच जाता है। दिल्ली में पहले फेज में 57 मेट्रो ट्रेनें शुरू की गई हैं जो करीब 462 फेरे लगाएंगी।

फोटो दिल्ली मेट्रो की है।

फोटो दिल्ली मेट्रो की है।

नोएडा: एक्वा लाइन पर मेट्रो शुरू
नोएडा में एक्वा लाइन पर मेट्रो सर्विस शुरू हो गई। एक यात्री ने बताया, “इससे पहले मैं कैब का इस्तेमाल करता था। इससे ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते थे। मेट्रो सर्विस की वजह से मैं पैसे की बचत कर पाऊंगा।”

नोएडा में भी मेट्रो स्टेशन पर सन्नाटा नजर आया।

नोएडा में भी मेट्रो स्टेशन पर सन्नाटा नजर आया।

जयपुर में आज से मेट्रो शुरू नहीं हुई
जयपुर में मेट्रो सर्विस सोमवार को शुरू नहीं हुई। कब से होगी यह अभी तय नहीं है। सूत्रों के मुताबिक, एक नई लाइन बनकर तैयार है। बताया जा रहा है कि अब इसके इनॉगरेशन के साथ ही शहर में मेट्रो सेवा शुरू होगी। पहले कहा जा रहा था कि 7 सितंबर में यहां भी मेट्रो दौड़ने लगेगी। अब श्राद्ध पक्ष खत्म होने के बाद मेट्रो शुरू होने की उम्मीद है।

0



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here