Spread the love


पेरिस: कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच फ्रांस में आज से देशव्यापी लॉकडाउन शुरू हो रहा है. यह लॉकडाउन गुरुवार की आधी रात से शुरू होकर कम से कम दिसंबर तक रहेगा. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने बुधवार को देश को संबोधित करते हुए लॉकडाउन का ऐलान किया था. उन्होंने कहा था, “कोरोना तेजी से फैल रहा है. सभी पड़ोसियों की तरह हम भी महामारी की दूसरी लहर झेल रहे हैं. कोविड-19 का मुकाबला करने का लॉकडाउन ही एकमात्र तरीका है.”

नए लॉकडाउन में स्कूल खुले रहेंगे

फ्रांस में इससे पहले मार्च के मध्य में लॉकडाउन किया गया था. हालांकि पहले लॉकडाउन के विपरीत इस बार सख्त नियमों के साथ सभी स्कूल खुले रहेंगे. इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान सिर्फ काम पर जाने, स्वास्थ्य सेवाएं लेने और खरीददारी करने की अनुमति होगी. फैक्ट्रीज, खेती और कंस्ट्रक्शन का काम जारी रखा जा सकता है. यूनिवर्सिटी, लाइब्ररेरी, बार, रेस्तरां, जिम, सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगी रहेगी.

फ्रांस में रिकवरी रेट बेहद कम

फ्रांस कोरोना वायरस से पांचवा सबसे ज्यादा प्रभावित देश है. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, गुरुवार को फ्रांस में महामारी से 235 लोगों की मौत हो गई और 47,637 नए मामले सामने आए. फ्रांस में संक्रमितों की कुल संख्या 13 लाख के करीब है और 36 हजार से लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. फ्रांस में कोरोना रिकवरी रेट बहुत कम है. यहां केवल 1 लाख 15 हजार लोग ही ठीक हुए हैं, 11 लाख से ज्यादा का इलाज चल रहा है. भारत से तुलना करें, तो यहां 80 लाख संक्रमितों में से 73 लाख मरीज रिकवर हो चुके हैं.

बेल्जियम, नीदरलैंड, स्पेन और चेक गणराज्य में भी संक्रमण के मामलों में इसी तरह की बढ़ोतरी हो रही है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जर्मनी के 16 राज्यों में भी आंशिक लॉकडाउन लागू कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें-
Coronavirus: बांग्लादेशी डॉक्टर के तीसरी बार संक्रमित होने का चला पता, बताया गया दुनिया का पहला मामला

कोरोना काल में भारत से वुहान के लिए पहली फ्लाइट आज, चीन जाने वाली छठवीं वंदे भारत मिशन फ्लाइट



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here