Spread the love


चीनी वायरस वैज्ञानिक डॉक्टर ली मेंग यान ने दावा किया है कि खतरनाक कोरोना वायरस वुहान की एक सरकारी लैब में विकसित किया गया था. एक न्यूज चैनल से इंटरव्यू में उन्होंने ये भी कहा कि चीन की सरकार को संक्रमण के फैलाव के बारे में जानकारी थी.

चीन के छिपाने के प्रयास में WHO भी शामिल

वुहान में प्रकोप की शुरुआत में कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच करनेवाली डॉक्टर ली मेंग यान ने बताया कि उन्होंने वुहान में प्रकोप के छिपाए जाने का पता लगाया था. उनका ये भी दावा है कि है कि सार्वजनिक रूप से स्वीकार करने से पहले वायरस के फैलाव के बारे में चीन की सरकार को जानकारी थी. डॉक्टर ली मेंग यान के मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन भी इसका हिस्सा है.

चीनी वायरस वैज्ञानिक का सनसनीखेज दावा

उन्होंने कोरोना वायरस की उत्पत्ति के संबंध में कहा कि वुहान के बाजार से फैलने की बात चीनी सरकार की तरफ से पर्दा डालने की कोशिश की है. हांग कांग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वैज्ञानिक रह चुकीं डॉक्टर ली मेंग यान का आरोप है कि चीन में उनके वरिष्ठों की तरफ से मुंह बंद करने की कोशिश की गई.

उन्होंने चीन की सरकार पर सोशल मीडिया, साइबर हमलों के जरिए अपनी प्रतिष्ठा को धूमिल करने का आरोप लगाया. इससे पहले 14 सितंबर को उन्होंने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कोरोना वायरस को वुहान की लैब में बनाए जाने का दावा किया था. यान लंबे समय से कोरोना वायरस पर शोध कर रही थीं. उन्होंने बताया कि शोध के दौरान उन्हें पता चला कि कोरोना वायरस चीन की एक लैब में विकसित किया गया था.

संयुक्त राष्ट्र में भिड़े डोनाल्ड ट्रंप और शी जिनपिंग, एक दूसरे पर जमकर चलाए शब्द बाण

नरम पड़े ड्रैगन के सुर, संयुक्त राष्ट्र में शी जिनपिंग बोले- युद्ध लड़ने का कोई इरादा नहीं

अखबार के पन्नों से | विरोध के बीच 11 विधेयकों पर मुहर | September 23, 2020



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here