Spread the love


उत्तर प्रदेश के हाथरस में कथित गैंगरेप और मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट आज फैसला सुनाएगा. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि सीबीआई जांच की निगरानी सुप्रीम कोर्ट करेगा या फिर हाईकोर्ट. अदालत मामले का ट्रायल उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने के मसले पर भी फैसला करेगी. साथ ही कोर्ट पीड़ित परिवार को मुहैया कराई जाने वाली सुरक्षा के बारे में भी फैसला सुनाएगा. जस्टिस एएस बोपन्ना और वी रामासुब्रमण्यम के साथ ही चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ दोपहर 12 बजे आदेश सुनाएगी.

 

15 अक्टूबर को पिछली सुनवाई में, उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ने हाथरस पीड़ित के परिवार की सुरक्षा के लिए किसी भी एजेंसी को नियुक्त करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया था. लेकिन साथ ही उन्होंने कहा था कि इससे राज्य पुलिस की निष्पक्षता पर कोई आंच नहीं आनी चाहिए.

 

डीजीपी की ओर से पेश वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने प्रधान न्यायाधीश बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष कहा था, “यह अदालत परिवार की सुरक्षा के लिए किसी भी एजेंसी की नियुक्ति कर सकती है, लेकिन इससे राज्य पुलिस की निष्पक्षता पर कोई नहीं प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए. हम किसी चीज के विरोध में नहीं हैं.” साल्वे ने जोर देकर कहा कि कुछ भी ऐसा नहीं होना चाहिए, जिससे उत्तर प्रदेश पुलिस की छवि खराब हो. मामले पर विस्तृत सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था.

दिनभर की अन्य छोटी बड़ी खबरों के लिए आपका एबीपी न्यूज़ के ब्रेकिंग सेक्शन में स्वागत है. अपडेट्स के लिए बने रहें.

अन्य बड़ी खबरें

    • एलएसी पर जारी तनाव के बीच भारत और अमेरिका चीन के आक्रमक रुख को कड़ा जवाब देने के लिए रणनीति और आपसी सहयोग को मज़बूत करने पर आज चर्चा करेंगे. 2+2 संवाद में शामिल होने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर सोमवार को दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे. आज होने वाली 2+2 वार्ता में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर शामिल होंगे. दोनों देशों के बीच होने वाली तीसरे दौर की बैठक एक तरफ भारत-अमेरिका के सामरिक संबंधों को और मजबूत करेगी, तो साथ ही हिंद-प्रशांत इलाके को स्वतंत्र और खुला रखने पर भी मुहर लगाएगी. भारत-अमेरिका के बीच यह बातचीत ऐसे वक्त में हो रही है जब एलएसी पर भारत-चीन के बीच तनाव बना हुआ है.

 

    • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के तहत तीन नवंबर को मतदान से पहले ग्वालियर-चंबल इलाके में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ कई बैठकें करेंगे. पायलट आज और कल यानि 28 अक्टूबर को शिवपुरी जिले के नरवर और सतनवाड़ा में, मुरैना जिले के सुमावली तथा भिंड एवं ग्वालियर जिले में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें करेंगे. इसके अलावा पायलट मुरैना विधानसभा सीट के नूराबाद क्षेत्र में, दिमनी विधानसभा क्षेत्र के मनबसाई में, गोरमी (मेंहगांव सीट) तथा गोहद में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठकों में शामिल होंगे.

 

    • आज ही के दिन 73 साल पहले भारतीय सेना ने श्रीनगर के हवाई अड्डे पर लैंड किया थ और श्रीनगर से कबाइलियों को खदेड़कर कश्मीर को बचाया था. इस मौके पर सेना मुख्यालय और श्रीनगर हवाई अड्डे दोनों जगह पर कार्यक्रम होगा.

 

    • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज ‘प्रधानमंत्री स्‍वनिधि योजना’ के उत्तर प्रदेश के लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए सुबह 10:30 बजे संवाद करेंगे. इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी उपस्थित रहेंगे. प्रधानमंत्री स्‍ट्रीट वेंडर्स आत्‍मनिर्भर निधि (पीएम स्‍वनिधि) योजना की शुरुआतसड़कों और पटरियों पर सामान बेचने वाले उन गरीब लोगों के लिए 1 जून, 2020 को की गई थी जो कोविड-19 के चलते प्रभावित हुए थे.

 

    • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 4.45 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सतर्कता एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ आयोजित एक राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे. सीबीआई द्वारा आयोजित इस राष्ट्रीय सम्मेलन का विषय ‘‘सतर्क भारत, समृद्ध भारत’’ रखा गया है. तीन दिनों तक चलने वाला यह सम्मेलन “सतर्कता जागरूकता सप्ताह” के साथ-साथ हो रहा है. पीएमओ से जारी बयान में कहा गया कि इस सम्मेलन की गतिविधियों में सतर्कता संबंधी विषयों पर ध्यान दिया जाएगा, जिनमें लोगों को जागरूक करना और नागरिकों की सहभागिता से सार्वजनिक जीवन में अस्मिता तथा सत्यनिष्ठा के भारत के संकल्प को पुष्ट करना है.

 

    • सीमा पर चीन से चल रही तनातनी के बीच सोमवार से शुरु हुए आर्मी कमांडर्स कॉन्फ्रेंस का आज दूसरा दिन है. आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सेना के सभी कमांडर्स को संबोधित करेंगे और सेना को सरकार की नीति से अवगत कराएंगें. इसके अलावा देश (और सरकार) को सेना से क्या अपेक्षाएं हैं उसके बारे में बताएंगे. रक्षा मंत्री के संबोधन से पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया और नौसेनाध्यक्ष, एडमिरल करमबीर सिंह भी थलसेना के वरिष्ट कमांडर्स को संबोधित करेंगे. इस दौरान तीनों सेनाओं के एकीकरण, संयुक्त ऑपरेशन्स और भविष्य में बनने वाली थियेटर कमांडस पर चर्चा होगी.

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here