किसानों के आंदोलन को लेकर राजनीतिक गलियारे में हंगामा मचा हुआ है। इस बीच ‘आज तक’ पर एक डिबेट शो के दौरान कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने सवाल उठाया कि ‘बीजेपी नेता ने अभी तक इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि सरकार के पास यह लेखा-जोखा कैसे होगा कि कौन से किसान ने कितनी फसल खरीदी? ये पहले तो कहते थे कि हम पंजाब के किसानों को उकसा रहे हैं…लेकिन अब पश्चिम उत्तर प्रदेश के किसान भी प्रदर्शन में आ रहे हैं…आप अपने पूर्व पार्टनर अकाली दल को तो समझा नहीं पाए…उनको भी हम उकसा रहे हैं क्या? पहले अकाली दल को मना लीजिए उसके बाद बात करते किसानों से…आप ये मत कहियेगा कि अकाली दल को हमने उकसाया है।’

इसपर शो में शामिल हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ ने उन्हें जवाब दिया। बीजेपी नेता ने एक उदाहरण देते हुए कहा कि ‘हमारे यहां एक कहावत है कि एक रियासत में एक कुआं था। कुएं में भांग पड़ गई तो लोगों ने पी लिया और कहने लगे कि राजा को हटाओ, राजा को हटाओ…तो वजीर से राजा ने पूछा कि हम क्या करें? तो फैसला हुआ कि हम भी उसी कुएं का पानी पी लें..तो राजा साहब ने कैप्टन के कुएं का पानी पी लिया है…इसपर एंकर ने बीच में ही बीजेपी नेता को टोकते हुए कहा कि ‘तो आपको क्या लगता है कि सड़क पर सब भांग पी कर आएं..क्या बोल रहे हैं आप?

इसपर भाजपा नेता कहने लगे कि ‘नहीं-नहीं मैं उनको नहीं कह रहा। मैं कैप्टन अमरिंदर सिंह औऱ अकाली दल की बात कर रहा हूं।’ इसपर कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि ‘ऐसा मत कहिये..ये कैसी बात कर रहे हैं आप इस तरह का उदाहरण मत दीजिए। गलत बात कर रहे हैं आप।’ बहरहाल आपको बता दें किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है।

शुक्रवार को दिन भर सड़क पर प्रदर्शन करने के बाद कुछ किसान सिंघु बॉर्डर पर अड़ गए हैं। यह किसान रात के वक्त वहां खाना बनाते नजर आए। किसानों ने साफ कर दिया है कि शनिवार-रविवार को भी उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। किसान सरकार की कृषि नीति का लगातार विरोध कर रहे हैं औऱ इसे वापस लेने की मांग पर अड़े हैं। किसानों को दिल्ली में प्रदर्शन की भी इजाजत मिल गई है। हालांकि केंद्रीय कृषि मंत्री ने 3 दिसंबर को किसान संगठनों को बातचीत के लिए आमंत्रित किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here