केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि देश में सभी को फ्री में कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी (AP)


केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि देश में सभी को फ्री में कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी (AP)

केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि देश में सभी को फ्री में कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी (AP)

Coronavirus Vaccine: स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि देश में पहले कोरोना वायरस का टीका 13 जनवरी को दिया जा सकता है.

नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को कहा कि भारत में कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन (Coronavirus Vaccine first shot) 13 जनवरी को दी जा सकती है. उन्होंने कहा कि इमरजेंसी यूज़ ऑथोराइजेशन जिस दिन हुआ है उसके 10 दिन के भीतर टीकाकरण शुरू होने की पूरी तैयारी है. उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए सेशन बांटने की पूरी प्रकिया इलेक्ट्रॉनिकली होगी. लाभार्थी को वैक्सीनेशन हुआ ये डिजिटली रिकॉर्ड किया जाएगा और उसे अगला डोज़ लेने कब आना है इसकी जानकारी भी उसे डिजिटली मिलेगी. उन्होंने कहा कि वैक्सीन लेने के बाद अगर उसका कोई बुरा प्रभाव होता है तो उसकी ​रियल टाइम रिपोर्टिंग के लिए कोविन वैक्सीन डिलीवरी मैनेजमेंट सिस्टम में प्रावधान किया गया है.

मुख्य सचिव ने कहा कि कोविन प्लेटफॉर्म (CoWin Platform) हमने भारत में बनाया है लेकिन ये विश्व के लिए है, जो भी देश इसका इस्तेमाल करना चाहेंगे भारत सरकार इसमें उनकी मदद करेगी. भूषण ने कहा कि हेल्थ वर्कर और फ्रंट लाइन वर्कर को कोविन प्लेटफॉर्म (वैक्सीनेशन के लिए) पर अपना पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं होगी, उनका डाटा पहले ही रिकॉर्ड किया जा चुका है. उन्होंने कहा कि करनाल, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में स्थित GMSD नामक 4 प्राथमिक वैक्सीन स्टोर हैं और देश में 37 वैक्सीन स्टोर हैं. वे टीकों को थोक में संग्रहित करते हैं और आगे वितरित करते हैं.

ये भी पढ़ें- 8 लाख रुपये से भी कम में मिल रही नई Ford EcoSport, इस वैरिएंट में मिलेगा सनरूफ

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि स्टोर किए गए टीकों की संख्या और तापमान ट्रैकर सहित सुविधा की डिजिटल निगरानी की जाती है. हमारे पास देश में एक दशक से अधिक समय से यह सुविधा है.देश में एक्टिव केस ढाई लाख से कम
स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि सक्रिय मामले 6 महीने के बाद 2,50,000 से कम हो गए हैं. पिछले 11 दिनों से कोरोना से रोज़ 300 से कम लोगों की मौत हो रही है. उन्होंने बताया कि देश में सक्रिय मामले 2.5 लाख से कम हैं और इसमें गिरावट जारी है. फिलहाल सकारात्मकता दर 1.97% है.

ये भी पढ़ें- BJP से ‘चोट’ खाए नीतीश कुमार को क्यों कांग्रेस-राजद से भी मलहम की उम्मीद नहीं

राजेश भूषण ने कहा कि 44% मध्यम या गंभीर लक्षणों वाले सक्रिय मामले जिन्हें नियमित देखभाल की आवश्यकता होती है, अस्पताल में हैं. 56% मामले बहुत हल्के या एसिम्प्टोमेटिक हैं और होम आईसोलेशन में हैं.

बता दें  स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 वैक्सीन वितरण की निगरानी, डाटा रखने और लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए पंजीकृत करवाने के लिए कोविन (Co-WIN App) नाम से एक ऐप बनाया है. देश के नागरिक जो हेल्थ वर्कर्स नहीं हैं उन्हें कोवैक्सीन के लिए CoWIN ऐप को गूगल प्ले स्टोर या ऐपल ऐप स्टोर से डाउनलोड करना होगा. ऐप को डाउनलोड करने के बाद पंजीकरण मॉड्यूल के जरिए लोग कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here