Spread the love


बीजेपी सांसद अनिल जैन ने राहुल और प्रियंका गांधी के पीड़ित परिवार से अकेले में मिलने पर सवाल खड़ा किया

बीजेपी सांसद अनिल जैन (Anil Jain) ने माना कि हाथरस (Hathras) में पीड़िता का दाहसंस्कार रात में हुआ, ये दुखद घटना है. और गलत भी है. मर्यादा के अनुरुप अंतिम संस्कार होना चाहिए.

लखनऊ. बीजेपी के राज्यसभा सांसद और पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन (Anil Jain) ने हाथरस (Hathras) में आधी रात को शव जलाए जाने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण और गलत बताया है. उन्होंने कहा कि लेकिन उससे भी दुर्भाग्यपूर्ण है इसपर राजनीति करना. जैन ने विपक्षी दलों को घेरते हुए कहा कि 14 दिन तक किसी भी राजनीतिक दल का नेता देखने नहीं गया. जब पीड़िता मर गई, तो घिनौनी राजनीति करने पहुंचने लगे. जेएनयू और सीएए का विरोध करने वाले संगठन इससे जुड़ गए. जातीय विद्वेष फैलाई गई. एक वेबसाइट सामने आई है. इससे साढ़े तीन लाख लोग जुड़े थे.

कांग्रेस पर सवाल

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर सवाल खड़ा करते हुए सांसद ने कहा कि इनलोगों ने बंद कमरे में परिजनों से मुलाकात क्यों की. कांग्रेस ने क्यों कहा कि 25 लाख मुआवजा न लेना हम 50 लाख दिलाएंगे. राहुल- प्रियंका ने अकेले में पीड़ित परिवार से मुलाकात क्यों की. मीडिया के सामने मुलाकात क्यों नहीं किया.

बीजेपी सांसद ने माना कि लड़की का दाहसंस्कार रात में हुआ वो दुखद है. वो गलत है. मर्यादा के अनुरुप दाहसंस्कार होना चाहिए था.आरोपों के बीच अनिल जैन ने टीएमसी नेताओं पर भी वार किया और कहा कि कृषि विधेयक पास कराने के दौरान जो हुआ वो सत्तर सालों में नहीं हुआ था. टीएमसी सांसदों पर बोलते हुए अनिल जैन के बोल बिगड़ गए. उन्होंने कहा कि कि सदन में ये लोग उपर चढ़कर बैठ गये थे. ये वही लोग थे, जिन्हें हाथरस में लोगों ने कूटकर भगा दिया.

कृषि बिल पर फैलाई जा रही झूठ 

कृषि बिल पर उन्होंने कहा कि इसको लेकर लगातार झूठ फैलायी जा रही है. जब से मोदी जी पीएम बने हैं असहिष्णुता फैलाई जा रही है कि कैसे एक गरीब का बच्चा पीएम बन गया. राफेल को लेकर भी झूठ फैलायी गयी. सीएए के नाम पर भी झूठ उड़ाई गयी. देश को दंगे की आग मे झोंकने की कोशिश की गई. बहन-भाई मिलकर ये काम कर रहे हैं. किसानों को प्रगतिशील बनाने का काम मोदी सरकार कर रही है. स्वामीनाथन रिपोर्ट पर कांग्रेस ने कोई काम नहीं किया.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here