साल में एक बार रक्तदान करना सेहत के लिए अच्छा है, जानिए कैसे
Spread the love


रक्तदान (Blood Donation) से किसी का जीवन बचाया जा सकता है. हर सेकंड किसी को रक्त की जरूरत होती है और आप अपने कीमती रक्त का एक छोटा हिस्सा दान करके किसी जरूरतमंद की मदद कर सकते हैं. चूंकि रक्त को बनाया नहीं जा सकता है, इसलिए बीमार व्यक्ति को रक्त पाने और चोट या बीमारी से उबरने के लिए डोनर्स (Blood Donor) यानी दाताओं पर निर्भर रहना होता है, लेकिन ऐसा नहीं है कि जिसे रक्त दिया जा रहा है, उसे ही सेहत (Health) को लेकर फायदा है. रक्त देने वाले को भी कुछ स्वास्थ्य लाभ (Health Benefit) मिलते हैं. कुछ लोगों का मानना है कि रक्त दान करने से कमजोरी और अन्य बीमारियां हो सकती हैं, जो कि बिल्कुल गलत है.

myUpchar से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि साल में एक बार रक्तदान करना एक स्वस्थ आदत है. ऐसा नहीं है कि साल में एक बार रक्तदान कर चुके हैं तो दोबारा नहीं कर सकते हैं. दो रक्तदान के बीच न्यूनतम समय का अंतर कम से कम 3 महीने होना चाहिए. हालांकि 18 से 65 साल के बीच और वजन 45 किलो से ज्यादा है तो किसी भी व्यक्ति द्वारा रक्त दान किया जा सकता है. इसके लिए हीमोग्लोबिन 12.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर से ज्यादा होना चाहिए. यहां जानिए रक्तदान करने के आश्चर्यजनक फायदे:

बनती हैं नई कोशिकाएंजैसे ही रक्त दान करते हैं, शरीर ब्लड सेल काउंट को फिर से भरने के लिए रक्त कोशिकाओं का उत्पादन शुरू कर देता है. जब भी शरीर में आरबीसी या लाल रक्त कोशिकाओं की कमी होती है, तो आपकी बोन मैरो यानी रक्त पैदा करने वाले अंग को एक संकेत मिलता है, जिसके बाद यह रक्त कोशिकाओं का उत्पादन शुरू करता है.

ये भी पढ़ें – मास्क पहनने से पुरुषों को हो सकती हैं स्किन संबंधी समस्‍याएं

सेहत की जानकारी

जब रक्तदान के लिए जाते हैं, तो मेडिकल टीम कई टेस्ट करती है, क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति के रक्त को ही दान किया जा सकता है. अगर कोई बीमारी है, तो रक्तदान के लिए व्यक्ति को योग्य नहीं माना जाएगा. अब इस प्रक्रिया के लिए रक्त की जांच की जाती है तो यह किसी भी सेहत से जुड़े मुद्दे के संभावित जोखिमों का खुलासा कर सकता है, जिनके बारे में पहले पता ही न हो.

वजन घटना
रक्त दान से वजन घटाने में भी मदद मिलती है. एक बार रक्त दान कर 650-700 कैलोरी कम कर सकते हैं. हालांकि वजन कम करने का यह एकमात्र तरीका नहीं हो सकता है.

मनोवैज्ञानिक लाभ
रक्तदान के बाद मिलने वाली संतोष की भावना को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. यह मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य के लिए एक सकारात्मक कदम साबित होता है. ऐसा नियमित रूप से करने से तनाव, चिंता और अवसाद का खतरा भी कम होता है.

ये भी पढ़ें – कोरोना में क्‍यों की जाती है कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, जानिए क्‍या है ये

सुधारता है लिवर की सेहत
जब रक्त में लोहे की सांद्रता बढ़ जाती है, तो यह लिवर के रोगों का खतरा बढ़ा देता है. रक्तदान करना संभावनाओं को कम करने और लिवर के स्वास्थ्य को सुरक्षित करने का सबसे अच्छा तरीका है. अतिरिक्त आयरन के स्तर के कारण लिवर कैंसर, हेपेटाइटिस सी और अन्य लिवर संक्रमण होते हैं.

दिल के लिए बेहतर
रक्तदान हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है. अमेरिकन जर्नल ऑफ एपिडेमियोलॉजी के अनुसार जो लोग रक्त दान करते हैं, उन्हें कम से कम दिल का दौरा पड़ने की आशंका होती है. रक्तदान नहीं करने वाले लोगों की तुलना में आशंका 88 प्रतिशत कम हो जाती है.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, रक्तदान के फायदे, नुकसान, तथ्य और मिथक पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here