International Tea Day: आज अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस (International Tea Day) है. चाय (Tea) पीना ज्यादातर लोगों को पसंद होता है. कई लोगों को अगर सुबह आंख खुलते ही चाय न मिले तो पूरा दिन आलस (Laziness) भरा बीतता है. इतना ही नहीं ऑफिस के काम के बीच चाय इंसान के दिमाग (Brain) को तरोताजा (Fresh) कर देती है. पहले लोग ब्लैक टी (Black Tea) और दूध वाली चाय (Milk Tea) ही पीते थे, लेकिन वक्त के साथ चाय कई तरह की हो गई है. चाय कई किस्मों में उपलब्ध होती हैं, लेकिन स्वास्थ्य के प्रति बढ़ती जागरुकता के कारण पारंपरिक चाय के स्थान पर दूसरी किस्मों जैसे ग्रीन टी, येलो टी, ब्लैक टी को तवज्जो मिलनी शुरू हो गई है. हालांकि हमारी पारंपरिक चाय में कुछ मसाले मिला देने से वह अन्य की तुलना में अधिक फायदेमंद साबित हो सकती है. मसाला चाय बनाने के लिए जिन मसालों की जरूरत होती है, वह आपकी किचन में आसानी से उपलब्ध होते हैं, जैसे लौंग, इलायची, अदरक, दालचीनी, तुलसी और चायपत्ती. आज अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस मनाया जा रहा है. आइए इस मौके पर जानते हैं कि पारंपरिक मसाला चाय पीने से आपके सेहत को क्या फायदे पहुंच सकते हैं.

मसाला चाय के फायदे
मसाला चाय में डलने वाले सभी मसाले जैसे लौंग, इलायची, अदरक, दालचीनी, तुलसी और चायपत्ती के यूं तो अपने-अपने फायदे हैं, लेकिन जरा सोचिए कि इन सबके साथ मिल जाने से ये फायदे किस हद तक बढ़ सकते हैं. आइए जानते हैं कि मसाला चाय किस तरह अधिक लाभकारी साबित हो सकती है.

दर्द को करे कममसाला चाय में डलने वाले सारे मसाले शरीर में किसी भी प्रकार की सूजन को कम करने में कारगर हैं. अदरक और लौंग इनमें सबसे अहम है. 15 मिनट तक पानी में उबाले जाने के कारण इन मसालों के सारे गुण पानी में मिल जाते हैं. ये दोनों मसाले दर्द से निजात दिलाने में मददगार साबित होते हैं.

थकान दूर करे
अगर आप दिनभर के थके हों तो एक कप मसाला चाय से सारी थकान छूमंतर हो सकती है. इसमें मौजूद टैनिन शरीर को राहत देने के साथ ही उसे फिर से सामान्य करने में मदद करता है.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में छुहारे खाने से होंगे ये बड़े फायदे, आज ही करें डाइट में शामिल

पेट के कैंसर के खतरे को करे कम
चाय में पड़ने वाले आम मसाले जैसे इलायची, अदरक और दालचीनी में ऐसे एंटीऑक्सिडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स होते हैं, जिनमें कैंसर रोधक विशेषताएं होती हैं. अगर इन मसालों को नियमित तौर पर लिया जाए तो पेट में होने वाले कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है.

जुकाम-खांसी से बचाए
सर्दियों में जुकाम-खांसी से बच पाना किसी चुनौती से कम नहीं होता. मसाला चाय में मौजूद एंटीऑक्सिडेंटस और फाइटोकेमिकल प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करते हैं. अदरक बाहरी रोग से लड़ने की क्षमता के लिए फायदेमंद होता है. अगर जुकाम है तो मसाला चाय आपको गर्म रखने में भी मददगार होती है.

पीएमएस करे दूर
दालचीनी और अदरक पीरियड्स से पहले होने वाले सिंड्रोम (पीएमएस) के कारण होने वाले दर्द को दूर करने और हॉर्मोन में संतुलन बनाने में मदद करते हैं. इस समय जब गर्म पानी की बोतल से सिकाई से राहत न मिले तो चाय की चुस्की मदद कर सकती है.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में जरूर खाएं किशमिश, आज ही जान लें इसके खास फायदे

पाचन शक्ति बढ़ाए
चाय में इस्तेमाल होने वाले मसालों का नियमित सेवन पाचन और पैंक्रियाज में एंजाइम्स को स्टिमुलेट करता है. इससे ऑक्सीजन लेने की क्षमता बढ़ती है.

डायबिटीज की आशंका करे कम
यह डायबिटीज को कंट्रोल में रखने में मददगार होती है. साथ ही कुछ समय के लिए यह चीनी की लालसा को भी कम करती है. इन फायदों के लिए दो कप मध्यम से कड़क चाय का प्रतिदिन सेवन जरूरी है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here