सचिन तेंदुलकर ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस सीरीज को बताया है बेस्ट
Spread the love


सचिन तेंदुलकर ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस सीरीज को बताया है बेस्ट

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा, ”हमने वह सीरीज 2-1 से जीती. मैं बिना किसी शक के कह सकता हूं कि वह मेरे जीवन की बेस्ट सीरीज थी.”

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 17, 2020, 3:59 PM IST

नई दिल्ली. भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia ) के बीच हमेशा से कड़ी प्रतियोगिता रही है. क्रिकेट की ये दोनों दिग्गज टीमें मैदान पर एक-दूसरे को मात देने के लिए संघर्ष करती हैं. भारत को पहले ‘घर का शेर’ टीम कहा जाता था, क्योंकि विदेशी पिचों पर भारत का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहता था. इसके बाद सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) कप्तान बने और फिर यह परिदृश्य बदलना शुरू हुआ. भारत अब भी अपने घर में शेर है, लेकिन अब उनका विदेशी पिचों पर भी एटीट्यूड बदल गया है. हाल ही में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपने करियर की बेस्ट सीरीज के बारे में बताया है.

2001 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे की सीरज खासी लोकप्रिय रही थी. भारत पहला टेस्ट बुरी तरह हार गया था. दूसरे टेस्ट में भी भारत खतरनाक स्थिति में था. लेकिन वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ के बीच हुई साझेदारी ने सब कुछ बदल दिया. भारत 2-1 से सीरीज जीता.

‘मैं कोहली की कप्तानी का फैन नहीं हूं, लेकिन पूछना चाहता हूं क्या उन्हें को हटाकर RCB टूर्नामेंट जीत जाएगी?’

सचिन तेंदुलकर ने एबीसीसी ऑस्ट्रेलिया से कहा, ”इस बात की पुष्टि हुई थी कि स्टीव वॉ ने कहा था कि यह अंतिम मोर्चा है. लिहाजा सीरीज ऑस्ट्रेलिया के लिए भी अहम हो गई थी. पहले टेस्ट में उन्होंने हमें आसानी से 10 विकेट से हराया था और दूसरे टेस्ट से हमें बेहतर होना शुरू किया.”परिवार संग छुट्टियां मनाने दुबई पहुंचे धोनी, पत्‍नी साक्षी ने शेयर की तस्‍वीरें

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ”हमने वह सीरीज 2-1 से जीती. मैं बिना किसी शक के कह सकता हूं कि वह मेरे जीवन की बेस्ट सीरीज थी.” बता दें कि तेंदुलकर क्रिकेट इतिहास के सबसे मजबूत बल्लेबाज हैं. 20 साल के करियर में उनके नाम अनेक रिकॉर्ड हैं. 2011 के विश्व कप की भारत की जीत में वह टीम में थे. हालांकि, तेंदुलकर ने बहुत बड़े मैच खेले, लेकिन वह 2001 की सीरीज को ही सबसे अहम मानते हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here