चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फोटो सौ. रॉयटर्स)

Death Punishment to Li Xiaomin for 20.29 Billion Rupees Corruption: चीन हाओरांग असैट्स मैनेजमेंट कंपनी (China Huarong Asset Management Co.) के पूर्व अध्यक्ष लाइ जियाओमिन (Lai Xiaomin) को रिश्वत, भ्रष्टाचार और दो शादियां (bribes, corruption and bigamy) करने के लिए मौत की सजा (Death Punishment) सुनाई गई है.

बीजिंग. चीन हाओरांग असैट्स मैनेजमेंट कंपनी (China Huarong Asset Management Co.) के पूर्व अध्यक्ष लाइ जियाओमिन (Lai Xiaomin) को रिश्वत, भ्रष्टाचार और दो शादियां (bribes, corruption and bigamy) करने के लिए मौत की सजा (Death Punishment) सुनाई गई है. तियानजिन सिटी की स्थानीय अदालत के अनुसार 2008 और 2018 के बीच लाई को कुल 1.79 बिलियन युआन (277 मिलियन डॉलर यानि 20,28,86,71,100 रुपये) रिश्वत लेने का दोषी पाया गया. फैसले में उनकी सभी निजी संपत्तियों को जब्त करने की बात कही गई है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने भ्रष्टाचार के खिलाफ इन दिनों अभियान चला रखा है.

पुलिस ने 200 मिलियन से अधिक युआन  बरामद किए
2020 की शुरुआत में लाइ जियाओमिन ने राज्य टीवी की एक डॉक्यूमेंट्री में स्वीकार किया था कि उन्होंने नकद भुगतान को प्राथमिकता दी. पुलिस ने उनके फ्लैट में छापा मारकर 200 मिलियन से अधिक युआन  बरामद किए. 2018 में उनकी नजरबंदी के बाद उनके पास बड़ी संख्या में संपत्ति मिली, साथ ही उन्हें  लक्जरी घड़ियों, कारों, सोने और एक कला संग्रह का मालिक पाया गया.

15 लाख से अधिक सरकारी अधिकारी को किया जा चुका है दंडितचीन में भ्रष्टाचार के लिए मृत्युदंड की सजा सामान्य नहीं है. हालांकि 2018 में शांक्सी प्रांत में एक पूर्व उप महापौर को मौत की सजा सुनाई गई थी. इस कदम से सरकारी कैडर और कॉरपोरेट अधिकारियों के बीच फैले भ्रष्टाचार पर सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के बढ़ते कड़े रुख को साफ़ समझा सकता है. सरकार के भ्राष्टाचार पर सख्त रवैये को 15 लाख से अधिक सरकारी अधिकारियों को दंडित किये जाने से भी समझा सकता है.

चीन में आर्थिक दंड 1 लाख से बढ़ाकर तीन लाख युआन किया गया
2016 में चीन ने भ्रष्टाचार से संबंधित मृत्युदंड के साथ आर्थिक दंड 1,00,000 युआन से 3 मिलियन युआन तक बढ़ा दी थी लेकिन कभी किसी को मृत्यदंड नहीं दिया गया. बीजिंग के एक वकील मो शाओपिंग ने कहा कि रिश्वत के मामलों में मौत की सजा दुर्लभ है. हालंकि कई लोगों को जेल की सजा काटनी पड़ी है.

ये भी पढ़ें:
मरियम नवाज ने PM इमरान खान से कहा- 31 जनवरी तक गद्दी छोड़ दें, अन्यथा जनता लेगी फैसले
जो बाइडन के राष्ट्रपति पद की शपथ लेने से पहले डोनाल्ड ट्रंप छोड़ देंगे अमेरिका!

लाइ जियाओमिन के मामले में मो शाओपिंग का मानना है कि इस मामले में भ्रषटाचार से जुड़ी राशि बहुत बड़ी है और पिछले सालों में शायद यह सबसे बड़ी रकम है. इस मामले ने सार्वजनिक आक्रोश को भी जन्म दिया है. मौत की सजा को लोगों में एक चेतावनी की तरह देखा जा रहा है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here