पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह को बदमाशों ने लखनऊ में गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई (फाइल फोटो)

लखनऊ के कठौता चौराहे पर कई राउंड फायरिंग (Firing) से सनसनी फैल गई. फायरिंग के दौरान अजीत सिंह के साथी मोहर सिंह भी घायल हुए. उनके पैर में गोली लगी है जिसके बाद उन्हें लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 7, 2021, 12:22 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) का कठौता चौराहा बुधवार देर शाम गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. हथियारबंद अपराधियों ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या (Ajit Singh Murder) कर दी. कठौता चौराहे पर कई राउंड फायरिंग (Firing) से सनसनी फैल गई. फायरिंग के दौरान अजीत सिंह का एक साथी मोहर सिंह भी घायल हुआ है. उसके पैर में गोली लगी है जिसके बाद उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तीन की संख्या में शूटरों ने यह हमला किया था. स्कॉर्पियो सवार अजीत सिंह को गोली मारने के बाद अपराधी मौके से फरार हो गए. वहीं विभूतिखंड थाना क्षेत्र स्थित व्यस्त चौराहे पर सरेआम हुई गोलीबारी की वारदात की सूचना मिलने पर लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डी.के ठाकुर घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम गठित की गई है. पुलिस वारदात के बारे में जानकारी जुटाने के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है.

बता दें कि मृतक अजीत सिंह पूर्व में मऊ के मोहम्मदाबाद गोहाना का ब्लॉक प्रमुख रह चुका है. वो एक जिला बदर अपराधी था जिसके तार जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी से जुड़े हुए थे.अजीत सिंह विधायक सर्वेश सिंह उर्फ सिम्पू सिंह की हत्या के मामले में गवाह था. विधायक सर्वेश सिंह की 19 जुलाई, 2013 को हत्या कर दी गई थी.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here