जानिए लक्ष्मी विलास बैंक से जुड़े  सभी सवालों के जवाब
Spread the love


जानिए लक्ष्मी विलास बैंक से जुड़े  सभी सवालों के जवाब

जानिए लक्ष्मी विलास बैंक से जुड़े सभी सवालों के जवाब

अगर आपका अकाउंट भी लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) में है या आपने बैंक के शेयर खरीद रखें हैं तो ये खबर आपके काम की है. यहां आप अपने हर सवाल का जवाब जान सकते हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 18, 2020, 1:40 PM IST

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मंगलवार को लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) को मोरेटोरियम (Moratorium) में रख दिया है. जिसके बाद बैंक ग्राहक के मन में तरह-तरह के सवाल खड़े होने लगे हैं. जैसे हमारे पैसों का क्या होगा, जिन्होंने बैंक के शेयर खरीदें हैं उनका क्या होगा, क्या बैंक बंद हो जाएगा आदि. हम आपको इस तरह के सभी सवालों के जवाब दे रहें हैं. बता दें कि आरबीआई ने संकटग्रस्‍त लक्ष्‍मी विलास बैंक को मोरेटोरियम में डालकर कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं. 16 दिसंबर तक बैंक से पैसे विद्ड्रॉ करने की सीमा 25 हजार रुपये तय की गई है. वित्‍त मंत्रालय ने बताया कि बैंक को 16 दिसंबर तक के लिए मोरेटोरियम के तहत रखा गया है. तो आइए जानते हैं इससे जुड़े हर सवाल के जवाब…

  • किन अकाउंट पर रहेगी पाबंदी?

    वित्‍त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने बताया कि लक्ष्‍मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) को बीआर एक्‍ट (BR Act) की धारा-45 (Section-45) के तहत रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से दी गई एप्‍लीकेशन के आधार पर मोरेटोरियम (Moratorium) के तहत रखा गया है. मोराटोरियम लागू रहने तक बैंक जमाकर्ता को 25 हजार रुपये से अधिक का पेमेंट नहीं कर सकता है. इससे ज्‍यादा के पेमेंट के लिए बैंक को रिजर्व बैंक से अनुमति लेनी होगी. साथ ही केंद्रीय बैंक के लिखित आदेश पर लक्ष्‍मी विलास बैंक निर्धारित सीमा से ज्‍यादा का भुगतान कर सकता है.

  • इलाज, उच्च शिक्षा की फीस, शादी जैसे जरूरी कामों के लिए क्या ग्राहक ज्यादा पैसे निकाल पाएंगे

    मोरेटोरियम की अवधि के दौरान जमाकर्ता के इलाज, उच्च शिक्षा की फीस, शादी जैसे जरूरी कामों के लिए डिपॉजिटर 25 हजार रुपये से ज्‍यादा की निकासी कर सकते हैं. हालांकि, इसके लिए रिजर्व बैंक से अनुमति लेनी होगी. बता दें कि 2019 में लक्ष्मी विलास बैंक के लिए मुश्किलें शुरू हो गई थीं. तब रिजर्व बैंक ने लक्ष्‍मी विलास बैंक की ओर से पेश किए गए इंडिया बुल्स हाउसिंग फाइनेंस के साथ विलय के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था. सितंबर 2020 में शेयरहोल्डर्स की ओर से सात डायरेक्टर्स के खिलाफ वोटिंग के बाद रिजर्व बैंक ने नकदी संकट से जूझ रहे प्राइवेट बैंक को चलाने के लिए मीता माखन की अगुआई में तीन सदस्यों की समिति का गठन किया था.

  • क्या होगा ग्राहकों के पैसों का?

    बैंक ने अपने ग्राहकों को भरोसा दिया था कि मौजूदा संकट का उनकी जमाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बैंक ने कहा था कि 262 फीसदी के तरलता सुरक्षा अनुपात (LCR) के साथ जमाकर्ता, बॉन्डधारक, खाताधारक और लेनदारों की संपत्ति पूरी तरह सुरक्षित है.

  • कितने दिनों के लिए लागू रहेगा नियम?

    फिलहाल RBI ने लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) को 30 दिनों के लिए यानी 16 दिसंबर तक मोरेटोरियम में रखा है. आपको बता दें कि सरकार ने इस बैंक का डीबीएस इंडिया के साथ विलय करने के बारे में एक योजना का भी ऐलान किया है.

  • क्या बंद हो सकता है बैंक?

    RBI ने सार्वजनिक तौर पर लक्ष्मी विलास बैंक की DBS बैंक के साथ एकीकरण की एक ड्राफ्ट स्कीम पेश की है. बैंक ने कहा कि अगर इस योजना को मंजूरी मिलती है तो डीबीएस इस विलय को सपोर्ट करने के लिए डीबीआईएल में 2500 करोड़ रुपये निवेश करेगा.

  • – अगर शेयर खरीदें है तो क्या होगा?

    लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक के विलय योजना के अनुसार लक्ष्मी विलास बैंक का अब डीबीएस के साथ विलय होगा. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, शेयरधारको की पूंजी जीरो हो गई है. मतलब साफ है कि डीबीएस को ऑनरशिप ट्रांसफर होगी. वो भी जीरो वैल्यू पर. ऐसे में तो शेयरधारकों को कुछ नहीं मिलेगा. लिहाजा शेयर में अब निचला सर्किट लगेगा (ऐसा तब होता है जब सभी लोग शेयर बेच रहे होते हैं)

अगली ख़बर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here