रिश्वत के पैसे गिनता मंड़ी इंस्पेक्टर सोमेंद्र सिंह. (वायरल वीडियो से लिया गया फोटो)

इटावा (Etawah) की नई मंडी में तैनात एक मंडी निरीक्षक(Market inspector) का रिश्वत (Bribe) लेने का एक वीडियो (Video) सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल (Viral) हो रहा है. वीडियो आला अधिकारियों तक पहुंचते ही मंडी निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 28, 2020, 10:21 PM IST

इटावा. उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) स्थित नवीन मंडी में तैनात एक मंडी निरीक्षक (Market Inspector) का रिश्वत (Bribe) लेते हुए वीडियो वायरल (Video viral) हुआ था, जिसके बाद मंडी निरीक्षक को निलंबित (Suspend) कर दिया गया है. मंडी निरीक्षक के रिश्वत लेने के वीडियो के वायरल होने के प्रकरण को आज कानपुर मंडल के आयुक्त डॉ.राजशेखर के सामने भी उठाया गया है, जिस पर उन्होंने डीएम स्तर पर पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है.

इटावा की नवीन मंडी के सचिव अनिल कुमार ने रिश्वतखोर मंडी निरीक्षक के निलंबन की पुष्टि करते हुए बताया कि रिश्वत का वीडियो वायरल होते ही जांच रिपोर्ट शासन स्तर को भेजी गई है. शासन स्तर पर ही मंडी निरीक्षक सोगेंद्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. निलंबित करने के साथ ही सोगेंद्र सिंह को फर्रुखाबाद में संबद्ध भी कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि सोगेन्द्र सिंह के खिलाफ पहले से भी कई अन्य मामलों की जांच लंबित थी और अब इस वीडियो के सामने आने के बाद पूरे प्रकरण को लेकर गहनता और गंभीरता से मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

योगी सरकार का IAS अफसरों को टूर पैकेज, दो रात और तीन दिन गांव में बिताकर लेंगे जनता का हाल

अगर इनके खिलाफ और अन्य मामले भी सामने आते हैं तो फिर विभागीय कार्रवाई भी अमल में लाई जाएगी. 5 दिन पहले इटावा जिले मे नवीन मंडी के इंस्पेक्टर सोगेंद्र सिंह के 1100 रुपये की रिश्वत लेकर बिना गेट पास के लहसुन भरे वाहन को पास कराने का वीडियो वायरल होने से हडंकप मचा हुआ था. करीब पांच मिनट अडतालिस सेंकेड के इस रिश्वत वाले वायरल वीडियो से मंडी अधिकारियों के अलावा कारोबारियों में हडंकप मचा हुआ है. वीडियो मे मंडी निरीक्षक जिस हेकड़ी के साथ रिश्वत लेता नजर आ रहा है उससे साफ है कि मंडी निरीक्षक बेखौफ रिश्वत लेकर शासन को प्रतिदिन लाखों रुपये राजस्व का चूना लगा रहा था.क्या था पूरा मामला
उसराहार का व्यापारी आमीन खां अपनी लहसुन की गाड़ी निकालने के लिए मंडी निरीक्षक के पैर तक छूता है. तब जाकर 1000 रुपए लेकर मंडी निरीक्षक बिना गेटपास जारी किए लहसुन से भरी यूटीलिटी निकालने की अनुमति देता है. मंडी निरीक्षक बिना रिश्वत लिए गेट से गाड़ी निकलने नहीं देता और रिश्वत मिलने पर बिना गेटपास के ही गाड़ी को निकाल देता है. इसी से तंग आकर इस छोटे व्यापारी ने अपने साथी के साथ यह वीडियो बनाकर वायरल की.

इस वीडियो में क्या है
इस वायरल वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि व्यापारी एक स्कूटी से गेट पर जाता है और मंडी निरीक्षक सोगेंद्र सिंह यादव को लहसुन की गाड़ी निकालने के लिए 600 रुपए देता है, लेकिन मंडी निरीक्षक 1200 रुपए मांगता है. व्यापारी के पैर छूने के बाद एक हजार रुपए लेता है, जिसके बाद व्यापारी पैसे देकर चला जाता है. पिछले दस साल से इटावा मंडी में जमे सोगेंद्र सिंह इससे पहले भी अनमितताओं में पकड़ा जा चुका है. सोगेंद्र सिंह यादव इटावा मंडी में पिछले 2010 से तैनात है. पहले यह मंड़ी सहायक के पद पर तैनात था.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here