Spread the love


कॉन्सेप्ट इमेज.

भारत (India) से चल रहे विवाद के बीच चीन (China) सीमा के नजदीक आधारभूत ढांचे को निरंतर मजबूत करने की कोशिश में लगा हुआ है. पूर्वी लद्दाख के नजदीक स्थित तिब्बत में चीन नई रेल लाइन बिछाने की तैयारी में है. यह रेल लाइन अरुणाचल प्रदेश के करीब से भी गुजरेगी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 1, 2020, 9:38 PM IST

बीजिंग. चीन अब भारत की सीमा के नजदीक रेल (Train) चलाने की तैयारी में है. चीन दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत के यान और तिब्बत (Tibet) के लिंझी के बीच रणनीतिक महत्व के सिचुआन-तिब्बत रेल मार्ग का निर्माण शुरू करने वाला है. आधिकारिक मीडिया ने यह जानकारी दी. लिंझी को नयींगशी के नाम से भी जाना जाता है और अरुणाचल प्रदेश सीमा के नजदीक स्थित है. लिंझी में एक हवाईअड्डा भी है, जो हिमालयी क्षेत्र में चीन द्वारा बनाए गए पांच हवाईअड्डों में शामिल है.

चाइना रेलवे ने दो सुरंग और एक पुल के निर्माण कार्य और शिचुआन-तिब्बत रेलवे के यान-लिंझी खंड के लिए बिजली आपूर्ति के लिए शनिवार को निविदा के परिणाम घोषित किए. इससे संकेत मिलता है कि परियोजना का निर्माण कार्य शुरू होने वाला है. सरकारी चाइना न्यूज की खबर के मुताबिक चिंघाई-तिब्बत रेलवे के बाद, सिचुआन-तिब्बत रेलवे तिब्बत में ऐसी दूसरी परियोजना है. यह चिंघाई-तिब्बत पठार के दक्षिण पूर्व से गुजरेगा, जो विश्व के भूगर्भीय रूप से सर्वाधिक सक्रिय इलाकों में शामिल है.

ये भी पढ़ें: 2027 तक अमेरिकन आर्मी की तरह PLA को तैयार करेगा चीन, आधुनिक सेना बनाने का लक्ष्य

सिचुआन-तिब्बत रेलवे सिचुआन प्रांत की राजधानी चेंगदु से शुरू होता है. यह यान से गुजरता हुआ और तिब्बत में प्रवेश करता है और चेंगदु से ल्हासा के बीच की यात्रा में लगने वाले 48 घंटे के समय को घटा कर 13 घंटे करता है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here