ब्राजील सरकार ने भारत में निर्मित कोरोना वैक्सीन की खुराक पाने के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coronavirus Vaccine Import: ब्राजील सरकार (Brazil Government) ने सोमवार को बताया कि वह ब्रिटिश दवा निर्माता एस्ट्राजेनेका (Astrazeneca) की भारत में निर्मित कोविड​-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के शिपमेंट की गारंटी के लिए कूटनीतिक प्रयास कर रही है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी ने बताया कि उन्हें उम्मीद है कि भारत सरकार कोरोना वायरस टीकों के निर्यात को प्रतिबंधित करेगी.

साओ पाउलो. ब्राजील सरकार (Brazil Government) ने सोमवार को बताया कि वह ब्रिटिश दवा निर्माता एस्ट्राजेनेका (Astrazeneca) की भारत में निर्मित कोविड​-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के शिपमेंट की गारंटी के लिए कूटनीतिक प्रयास कर रही है. वहीं ब्राजील की प्राइवेट हेल्थ क्लीनिक एसोसिएशन भी भारतीय फार्मास्यूटिकल फर्म भारत बायोटेक से कोरोना वायरस वैक्सीन खरीदने के लिए बातचीत कर रही है. ब्राजील दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले देशों में दूसरे नंबर पर है.

ब्राजील टीकाकरण के मामले में लातिनी देशों से पिछड़ा
ब्राजील सरकार ने वैक्सीन के शिपमेंट को जल्द से जल्द लाने के लिए निर्यात प्रतिबंधों से बचने के लिए कूटनीतिक प्रयास तेज कर दिए हैं. ब्राज़ील की सरकारी और निजी क्षेत्र के बीच की इस उठापटक ने यह साफ़ कर दिया है कि कैसे लैटिन अमेरिका का सबसे बड़ा राष्ट्र कोरोना का टीका लगाने में अपने साथी देशों से पीछे रह गया है. सरकार द्वारा फंडेड बायो मेडिकल सेंटर के प्रमुख ने पिछले सप्ताह रॉयटर्स को बताया कि ब्राजील के फायोक्रॉस संस्थान द्वारा स्थानीय रूप से एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को थोक में आयात करने, खुराक का भंडारण करने और स्थानीय स्तर पर खुराक बांटने के लिए फरवरी के दूसरे सप्ताह तक एक मिलियन खुराक तैयार हो पाएगी.

‘भारत सरकार टीकों के निर्यात पर बैन लगाएगी’कोरोना के प्रति सरकार के ढुलमुल रवैये और दो लाख मौतों के बाद ब्राजील तैयार खुराक आयात करने के लिए जल्दबाजी दिखा रहा है. ब्राजील पड़ोसी देश चिली और अर्जेंटीना के साथ बराबरी करने की कोशिश में है, जहां टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. हालांकि, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी ने रविवार को रॉयटर्स को बताया कि उन्हें उम्मीद है कि भारत सरकार COVID-19 टीकों के निर्यात को प्रतिबंधित करेगी.

ब्राजील ने 20 लाख खुराक के आयात को दी थी मंजूरी
ब्राजील की हेल्थ रेगुलेटर एन्विसा ने नए साल की पूर्व संध्या पर भारत से एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की दो मिलियन खुराक आयात करने की मंजूरी दी थी. बहुत से राजनयिक इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं कि इस वैक्सीन का शिपमेंट किसी भी निर्यात प्रतिबंध से प्रभावित ना हों. फायोक्रॉस ने भी इस बात की पुष्टि की है कि ब्राजील का विदेश मंत्रालय इस वार्ता को आगे बढ़ा रहा है. ब्राजील सरकार को पूरी आशा है कि वह भारत से टीकों का आयात करने में सफल होगी और किसी भी बाधा को कूटनीतिक प्रयासों से हल कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें:
VIRAL VIDEO: दुबई के प्रिंस ने साइकिल से शुतुरमुर्ग के साथ लगाई रेस
PHOTOS: नॉर्वे में भूस्खलन से तबाह हुआ गांव, अबतक 7 लोगों की हो चुकी है

​ब्राजील के निजी क्लीनिकों के एक संघ ने भारतीय कंपनी भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवैक्सिन वैक्सीन के लिए ब्राजील के स्वास्थ्य नियामक एन्विसा द्वारा अनुमोदन के लिए आवेदन नहीं किया है. एजेंसी ने यह भी कहा है कि इसे देश में तीसरे चरण के परीक्षणों से गुजरना होगा. रविवार को भारत के ड्रग रेगुलेटर DCGI ने कोवैक्सिन और एस्ट्राजेनेका के टीके को आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी जोकि भारत में वैक्सीन के लिए पहली मंजूरी है. वैक्सीन आखिरी चरण के ट्रायल्स से गुजर रही है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here