फिटनेस के लिए क्या आप पीते हैं ग्रीन टी? जानें इसे पीने का सही समय...
Spread the love


ग्रीन टी के सेवन के फायदे जानें

ग्रीन टी (Gree Tea) स्टैमिना (Boost Stamina) को बढ़ाती है. मेटाबॉलिज्म (High Metabolism) तेज करती है. इससे अल्जाइजर (Alzheimer) और कोलस्ट्रॉल (Cholesterol) लेवल को बैलेंस करने में मदद मिलती है.



  • Last Updated:
    September 27, 2020, 7:15 AM IST

चाय के सबसे सेहतमंद विकल्प की बात की जाती है तो ग्रीन टी (Gree Tea) का नाम सबसे पहले आता है. ग्रीन टी वजन कम (Weight Loss) करने में बहुत फायदेमंद मानी जाती है. ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में पॉलीफेनॉल्स होता है जो कि एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लेमेटरी होता है. इसका सेवन डायबिटीज को नियंत्रित करता है और कैंसर जैसी बीमारी के जोखिम से बचाने में मददगार होता है. इसका नियमित रूप से सेवन मस्तिष्क के लिए भी लाभकारी हो सकता है. यह अल्जाइजर जैसे रोग के जोखिम से बचाती है. ग्रीन टी उन हानिकारक कोलस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकती है, जिससे हृदय रोग की आशंका बढ़ती है. इसके साथ ही ब्लड प्रेशर को कम करने का गुण भी इसमें हैं.

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि ग्रीन टी से होने वाले फायदे इस बात पर निर्भर करते हैं कि इसे किस समय पीया जा रहा है. आमतौर पर लोग सोचते हैं कि सुबह उठते ही ग्रीन टी पीना अच्छा रहता है, लेकिन ऐसा नहीं है. सुबह सबसे पहले ग्रीन टी लेने से बचें. इसे नाश्ते से पहले भी ना लें. नाश्ते और दोपहर के भोजन के एक घंटे बाद ग्रीन टी पीने का सही समय है. इसमें टैनिन नाम का तत्व होता है इसलिए खाने से पहले ग्रीन टी पीते हैं तो पेट दर्द, मितली और कब्ज की शिकायत भी हो सकती है. खाली पेट ग्रीन टी पीने से इसकी उपस्थिति में पेट का एसिड बढ़ता है. ग्रीन टी का मुख्य काम शरीर को भोजन के मेटाबॉलिज्म के लिए उत्साहित करना होता है. अगर भोजन कर लिया है और इसके बाद सुस्ती के शिकार हो रहे हैं तो ग्रीन टी का सेवन मेटाबॉलिज्म को तेज करेगा, ताकि भोजन से पर्याप्त ऊर्जा मिले और वो कैलोरी में बदल सके.

इस बात का भी ध्यान रखें कि व्यायाम से कम से कम आधे घंटे पहले ग्रीन टी पिएं. इसकी वजह यह है कि ग्रीन टी स्टैमिना को बढ़ाती है. इसमें मौजूद कैफीन व्यायाम के लिए जरूरी ताकत देती है. साथ ही यह वजन घटाने में भी मदद करती है. व्यायाम से पहले ग्रीन टी पीने पर शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम करने में मदद मिलती है. देर रात ग्रीन टी पीने की गलती न करें, क्योंकि इसमें मौजूद कैफीन अनिद्रा की वजह बन सकती है.

विशेषज्ञों के मुताबिक एक व्यक्ति एक दिन में 2-3 कप ग्रीन टी पी सकता है. ग्रीन टी की मात्रा को सीमित रखना भी जरूरी है. हालांकि, ग्रीन टी का अधिक मात्रा में सेवन अनिद्रा, पेट की खराबी, उल्टी, दस्त और पेशाब आने जैसी परेशानियों को बढ़ा सकता है. यही नहीं ग्रीन टी का अधिक सेवन डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी की समस्या पैदा कर सकता है.यही नहीं ग्रीन टी को शहद के साथ मिलाकर पीने से ज्यादा फायदा होता है. इससे शरीर के विषाक्त तत्व बाहर निकलते हैं और पाचन अच्छा रहता है. ग्रीन टी को दूध और शक्कर के साथ मिलाकर न पिएं, क्योंकि इससे पाचन तंत्र के रस बिगड़ जाते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि दूध और शक्कर लैक्टिक डोज होते हैं और ग्रीन टी भी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है. तीनों के मिलने पर पाचन खराब होगा और दस्त भी लग सकते हैं. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान, बनाने की विधि और पीने का सही समय पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here