प्रेगनेंसी के लिए अपने शरीर को तैयार करने को लेकर 30 दिन की गाइड
Spread the love


Pregnancy Guide: बच्चे के जन्म का फैसला लेना एक बहुत बड़ा जिम्मेदारी का काम होता है. सवाल यह भी आता है कि क्या आप गर्भधारण के लिए तैयार हैं? गर्भधारण के लिए आप खुद को कैसे तैयार कर सकते हैं, इसके बारे में यहां एक सूची दी गई है और विस्तार से बताया गया है…

दिन 1: गोलियों का सेवन बंद
अगर आपको गर्भधारण करना है, तो किसी भी तरह की गर्भनिरोधक गोलियां या अन्य चीजों को लेना बदन कर देना चाहिए. ऐसा करने से जल्दी ही आप प्रेगनेंट हो सकती हैं.

दिन 2: मल्टीविटामिनगर्भधारण के लिए किसी भी तरह के पोषण की कमी को दूर करने के लिए मल्टीविटामिन का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए. गर्भावस्था के दौरान इसकी जरूरत होती है.

इसे भी पढ़ें: प्रेगनेंसी को लेकर है कंफ्यूज ? घर पर ही ऐसे करें प्रेगनेंसी टेस्ट
दिन 3: फोलिक एसिड
अपने प्रसव पूर्व विटामिन के अलावा आपको गर्भावस्था के दौरान न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने के लिए एक अतिरिक्त फोलिक एसिड या फोलेट पूरक की आवश्यकता हो सकती है.

दिन 4: अच्छा खाएं
स्वस्थ और संतुलित आहार लेने से आपको कई तरह के विटामिन और मिनरल्स मिलते हैं. अच्छा खाने से ही पौष्टिक तत्व मिलना संभव होता है.

दिन 5: कसरत
हर सप्ताह कम से कम पांच दिन या कसरत का रूटीन तैयार करें. या हर सप्ताह 150 मिनट कसरत में बिताने का कार्यक्रम तय करें. वॉकिंग और जोगिंग के अलावा साइकिलिंग भी इसमें की जा सकती है.

दिन 6: शारीरिक चेकअप
नियमित चेकअप से डॉक्टर आपकी आंतरिक बीमारियों को पकड़ पाएगा और इससे आपको फायदा होगा.

दिन 7: टीकाकरण
अगर किसी चीज का टीका रह गया है, तो उसे लगवाकर खुद और बच्चे दोनों को सुरक्षित किया जा सकता है.

दिन 8: प्रसूति विशेषज्ञ के पास विजिट
उम्र या पहले की कोम्पेलक्सिटी के लिए आपको प्रसूति विशेषज्ञ के पास जाकर चेक अप का समय निर्धारण करना चाहिए.

दिन 9: पीरियड्स साइकिल चेक करें
आप बर्थ कंट्रोल इस्तेमाल करती हैं या नहीं लेकिन मासिक चक्र में बदलाव होगा, पीरियड्स शुरू होने और खत्म होने की लेंथ को मापना शुरू करें.

दिन 10: विषाक्त चीजों से बचें
एक विकासशील बच्चे के लिए विषाक्त खतरनाक हो सकता है. सिंथेटिक परफ्यूम, रासायनिक घर और ब्यूटी प्रोडक्ट्स को छोड़ देना चाहिए.

दिन 11: तनाव से राहत का अभ्यास
तनाव रहित रहने का अभ्यास करें और आराम से चलने की कोशिश करें, कुछ गहरी साँस लेने के अभ्यास का करें, या ऐसा कुछ भी करें जो आपको खुशी प्रदान करे.

दिन 12: योग करें
योग से आपकी प्रजनन क्षमता के लिए कई लाभ हैं। नियमित रूप से योगाभ्यास करने से गर्भाधान प्रक्रिया से संबंधित आपकी भावनाओं और चिंता में मदद मिल सकती है.

दिन 13: डेंटिस्ट के पास जाएं
अपने सभी चेकअप करवा रहे हैं, तो अपने दांतों का चेकअप भी कराएं. गर्भावस्था के दौरान आपके शरीर में हार्मोन आपके मसूड़ों और दांतों को प्रभावित कर सकते हैं.

दिन 14: तम्बाकू, अल्कोहोल बंद करें
नए बच्चे के विकास के लिए तम्बाकू और अल्कोहोल का सेवन अच्छा नहीं है. इसे जितना जल्दी बंद करेंगे, उतना हेई बच्चे और माँ दोनों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा.

दिन 15: सेक्स करें
सेक्स को उत्तेजना के बजाय भावुकता के साथ करें और इसे नियमित अन्तराल पर करें. इसे मनोरंजन की तरह लेते हुए करें और सहज रहें.

दिन 16: हेल्दी वजन
आपको अपने बॉडी मॉस इंडेक्स का ध्यान रखना चाहिए. वजन को समान रखें, अगर आपका IBM कम है तो डॉक्टर से बात करें.

दिन 17: पारिवारिक मेडिकल हिस्ट्री रखें
बच्चे का स्वास्थ्य जेनेटिक मामलों से प्रभावित हो सकता है इसलिए परिवार की मेडिकल हिस्ट्री के बारे में आपको प्रेगनेंसी से पहले ही जानकारी होनी चाहिए. इसकी हिस्ट्री आपको जरुर रखनी चाहिए.

दिन 18: प्रिस्क्रिप्शन पर चर्चा
सुनिश्चित करें कि आपका डॉक्टर जाने कि आप गर्भधारण करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि वे आपके नुस्खे, दवाइयों या आपके द्वारा लिए जा रहे किसी भी अन्य आहार पर एक नज़र डाल सकें.

दिन 19: घरेलू हिंसा पर मदद लें
यदि आप घर पर किसी भी हिंसा का सामना कर रही हैं जो आपके स्वास्थ्य या आपके बच्चे के भविष्य की भलाई के लिए समझौता कर रही हैं. इसके लिए तुरंत आपको प्रशासन या किसी से भी मदद लेनी चाहिए.

दिन 20: अच्छी नींद
सोना सबसे जरूरी है. प्रेगनेंसी के दौरान सोने में कमी नहीं रखनी चाहिए. जब भी नींद आए, आपको सोना चाहिए.

दिन 21: कॉफ़ी सीमित करें
प्रेगेनेंट महिला को ज्यादा कॉफ़ी नहीं पीना चाहिए. हर दिन प्रेगनेंट महिला को 12 औंस कॉफ़ी पीना ही ठीक बताया गया है.

दिन 22: पानी पीएं
बॉडी 60 फीसदी पानी से बनी होती है. महिलाओं को दिन में 9 कप पानी पीना चाहिए. प्रेगनेंट होने के बाद इस मात्रा को बढ़ाया जा सकता है. अपने डॉक्टर से इस पर सलाह जरुर लेनी चाहिए.

दिन 23: जानें गर्भाधान कैसे काम करता है
प्रेगनेंसी और पैरेंटहुड के बारे में जानने के लिए आपको इससे सम्बंधित किताबें पढ़नी चाहिए. एग बाहर आने के समय यौन सम्बन्ध बनाना चाहिए ताकि स्पर्म का उससे मिलन हो सके.

दिन 24: हसबैंड का मेडिकल चेकअप कराएं
तीस फीसदी बांझपन के मामले पुरुषों में होते हैं, इसलिए मेडिकल चेकअप करवाया जा सकता है इसलिए अपने हसबैंड का चेकअप कराएं. स्मोकिंग, अल्कोहोल छोड़े और अच्छा खाएं और एक्सरसाइज करें.

दिन 25: प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करें
गर्भावस्था के दौरान आप सर्दी, फ्लू और अन्य बीमारियों के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं. एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर, विटामिन सी लेकर अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को कुछ अतिरिक्त मदद दें और आराम करें.

दिन 26: सीखें कि क्या करें और क्या न करें
गर्भावस्था के बारे में कई बातें सुनी होती हैं, वह वैज्ञानिक रूप से सही नहीं होती इसलिए किन खाद्य पदार्थों से दूर रहना है, किन पदार्थों को अपनाना है, इसके बारे में सीखें.

दिन 27: भारी काम करने से बचें
भार उठाना, लम्बे समय तक खड़े रहना और झुकना आदि प्रेगनेंसी में हानिकारक हो सकते हैं इसलिए भारी काम करने से बचें.

दिन 28: अजीबो गरीब एक्टिविटीज ना करें
प्रेगनेंसी के दौरान आपके लिए कई सारी एक्टिविटीज हानिकारक हो सकती हैं और इससे बच्चे के विकास पास असर निश्चित रूप से पड़ता है. अचानक चीजें करने और रुकने आदि से प्लेसमेंटल रूकावट हो सकती है.

दिन 29: इंश्योरेंस कवरेज चेक करें
गर्भवती होने से पहले अपनी स्वास्थ्य बीमा योजना में क्या शामिल है, इसकी समीक्षा करना महत्वपूर्ण है. लगभग 1 मिलियन महिलाएं प्रत्येक वर्ष इसे देखे बिना बच्चे को जन्म देती हैं.

दिन 30: बातचीत करें
पहले कुछ चक्रों में ही गर्भ धारण हो सकता है और इसमें समय भी लग सकता है. गर्भधारण से पहले सुनिश्चित करें कि आप अपने पार्टनर के साथ ईमानदार हैं. बच्चा पैदा करने के रास्ते में आने वाने हर विचार आप अपने पार्टनर के साथ शेयर कर रिलेशनशिप को हेल्दी बना सकते हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here