Spread the love


बलिया में खुली पंचायत के दौरान फायरिंग, एक की मौत (Photo: Video Grab)

बलिया पहुंचे DIG (आजमगढ़ रेंज) सुभाष चन्द्र दुबे ने कहा कि सभी नामजद आरोपियों को पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी. मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 16, 2020, 6:32 AM IST

बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया में कोटा आवंटन को लेकर हो रही खुली बैठक के दौरान एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी गई. बलिया पहुंचे डीआईजी (आजमगढ़) सुभाष चन्द्र दुबे ने कहा कि मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह (Dheerendra Singh) समेत 8 नामजद और 25 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. उन्होंने बताया कि इस केस में पुलिस की लापरवाही सामने आई है. मौके पर पकड़े जाने के बाद भी मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह भाग निकला.

डीआईजी ने दावा किया कि सभी नामजद आरोपियों को पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी. मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. उन्होंने बताया कि खुली पंचायत में मौजूद अफसरों के खिलाफ शासन ने कार्रवाई की है. मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नजीर बनेगी.

ये है पूरा मामलाबलिया जिले की ग्राम सभा दुर्जनपुर व हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के आवंटन के लिए गुरुवार दोपहर को पंचायत भवन में खुली बैठक का आयोजन किया गया था. इसमें बैरिया के एसडीएम सुरेश पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह और बीडीओ गजेंद्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी. दुकानों के लिए 4 स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया, जिसमें 2 समूहों मां सायर जगदंबा स्वयं सहायता समूह और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच मतदान कराने का निर्णय लिया गया. अधिकारियों ने कहा कि वोटिंग वही करेगा, जिसके पास आधार अथवा अन्य कोई पहचान पत्र होगा. एक पक्ष के पास आधार व पहचान पत्र मौजूद था, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था. इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया. मामला बिगड़ता देख बैठक की कार्रवाई को स्थगित कर अधिकारी चले गए.

यूं बिगड़ी बात और फिर…
अधिकारियों के जाने के बाद मौके पर मौजूद रेवती पुलिस दोनों पक्षों को समझाने और विवाद शांत करने में जुट गई. जबकि एक पक्ष अधिकारियों पर पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगा. इसी दौरान दूसरे पक्ष के लोगों से भिड़ंत हो गयी. बात बढ़ी तो लाठी-डंडे के साथ ही ईंट-पत्थर चलने लगे. इसी बीच एक पक्ष की ओर से फायरिंग शुरू हो गई. इस दौरान दुर्जनपुर के 46 वर्षीय जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को ताबड़तोड़ 4 गोलियां मार दी गईं. गोली चलते ही अफरातफरी मच गई. जयप्रकाश को लेकर लोग सीएचसी सोनबरसा पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

इस घटना के बाद इलाके में तनाव को देखते हुए कई थानों की फोर्स पहुंच गई और किसी तरह मामला संभाला गया. सूत्रों के मुताबिक, गोली चलाने वाले आरोपी का नाम धीरेंद्र सिंह डब्लू है, जो कि भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया जा रहा है.

सीएम योगी ने दिया ये आदेश
बलिया की इस घटना पर सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने संज्ञान लेते हुए निर्देश दिया कि मौके पर मौजूद एसडीएम, सीओ और पुलिस के जवानों को तत्काल निलंबित किया जाए और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. साथ ही कहा है कि अधिकारियों की भूमिका की जांच की जाएगी और जिम्मेदार लोगों पर आपराधिक कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में बलिया एसपी देवेंद्र नाथ ने कहा कि कोटा आवंटन की बैठक को बहस के बाद खत्‍म कर दिया गया था. इसके बाद एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया जिसमें जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को कई गोली लगीं. अस्‍पताल ले जाते वक्‍त उसकी रास्‍ते में मौत हो गई. घटना की जांच की जारी है और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होगी. वहीं, गांव में पर्याप्‍त पुलिस बल तैनात है और शांति बनी हुई है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here