यमुना एक्सप्रेसवे पर लगा भारी ट्रैफिक जाम

Farmer Protest: कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर के किसान (Farmer) आंदोलन के क्रम में दिल्ली तक आ पहुंचे हैं. दिल्ली सीमा पर किसानों को प्रवेश करने से रोकने के लिए पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 27, 2020, 12:35 PM IST

मथुरा. पंजाब, हरियाणा के बाद अब उत्तर प्रदेश के किसान भी आंदोलन (Farmers Protest) की राह पर है. किसानों के प्रदर्शन को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar pradesh) हाई अलर्ट (High Alert) पर है. शुक्रवार को यूपी के किसान सड़कों पर उतर आए, जिसका असर यमुना एक्सप्रेस-वे पर दिखा. मथुरा में किसानों की भारी भीड़ के बाद यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की रफ्तार थम गई. हजारों वाहन रेंगते नजर आए. आगरा से लेकर मथुरा तक टोल पर दोनों साइड डेढ़ किलोमीटर तक की लाइनें लग गई. टोल पार करने में ही वाहनों को आधा घंटे से भी अधिक का वक्त लग रहा है. वहीं पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है.

बता दें कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर के किसान अपने आंदोलन के क्रम में दिल्ली की सीमाओं तक आ पहुंचे हैं. किसानों के दिल्ली-मार्च को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने सरकार को एक पत्र लिखा है. दिल्ली पुलिस ने सरकार से मांग की है कि आंदोलन को देखते हुए उन्हें दिल्ली के 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की सुविधा दी जाए, ताकि जरूरत पड़ने पर गिरफ्तार किए गए किसानों को वहां रखा जा सके. गौरतलब रहे कि दिल्ली से सटे कई बॉर्डर पर किसान पहुंच गए हैं. कृषि कानूनों का विरोध करते हुए पंजाब और हरियाणा से हजारों की संख्या में किसान ‘दिल्ली मार्च’ पर आगे बढ़ रहे हैं.

कृषि मंत्री ने ट्वीट कर की किसानों से अपील
इस बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ट्वीट कर किसानों से अपील की है. उन्होंने कहा नए कानून बनाना समय की आवश्यकता थी, आने वाले कल में ये नए कृषि कानून, किसानों के जीवन स्तर में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं. नए कृषि कानूनों के प्रति भ्रम को दूर करने के लिए मैं सभी किसान भाइयों एवं बहनों को चर्चा के लिए आमंत्रित करता हूं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here