जरूरी है कि खून (Blood) में हीमोग्लोबिन की मात्रा पर्याप्त बनी रहे. खासतौर पर सर्दियों में इसके लिए कुछ खास फूड्स (Foods) का सेवन बहुत जरूरी होता है.


जरूरी है कि खून (Blood) में हीमोग्लोबिन की मात्रा पर्याप्त बनी रहे. खासतौर पर सर्दियों में इसके लिए कुछ खास फूड्स (Foods) का सेवन बहुत जरूरी होता है.

अगर खून में हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) की मात्रा कम हो जाती है तो लोग कई तरह की बीमारियों की चपेट में भी आ सकते हैं और नियमित रूप से थकावट (Restlessness) भी महसूस होने लगती है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 15, 2020, 7:46 AM IST

हेल्दी बने रहने के लिए शरीर में ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) का ठीक तरह से संचरण होना बहुत जरूरी होता है. इतना ही नहीं अगर खून में हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) की मात्रा कम हो जाती है तो लोग कई तरह की बीमारियों की चपेट में भी आ सकते हैं और नियमित रूप से थकावट (Restlessness) भी महसूस होने लगती है. जरूरी है कि खून (Blood) में हीमोग्लोबिन की मात्रा पर्याप्त बनी रहे. खासतौर पर सर्दियों में इसके लिए कुछ खास फूड्स (Foods) का सेवन बहुत जरूरी होता है. आइए आपको बताते हैं कि किन फूड्स को खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने में मदद मिलती है.

चुकंदर
चुकंदर का सेवन करना हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है. ये शरीर में खबून की मात्रा तो बढ़ाता ही है साथ ही खून को साफ भी करता है. कई लोग इसे कच्चा सलाद के रूप में खाना पसंद करते हैं तो वहीं कुछ लोग इसे जूस के रूप में भी पीते हैं. यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के साथ-साथ हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने के लिए भी प्रभावी माना जाता है. सप्ताह में कम से कम दो बार चुकंदर का सेवन करने वाले लोगों के शरीर में खून और हीमोग्लोबिन की समस्या का खतरा कई गुना तक कम हो सकता है.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में जरूर खाएं किशमिश, आज ही जान लें इसके खास फायदेअनार

शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाने के लिए अनार का सेवन करने की सलाह दी जाती है. इसके अलावा रिसर्च के अनुसार भी अनार का सेवन करना हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने के लिए बहुत असरकारी माना जाता है. आप चाहें तो अनार का सेवन करने के लिए इसे जूस के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

गाजर
गाजर का हलवा और सलाद के रूप में इसका सेवन किया जाता है. इसे ड्रिंक के रूप में भी पीया जाता है और इसकी सब्जी भी बनाई जाती है. इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन हीमोग्लोबिन को बढ़ाने के लिए प्रभावी रूप से काम कर सकती है. हालांकि प्रेग्नेंसी में गाजर का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए.

टमाटर

टमाटर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करती है. टमाटर का सेवन करने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी की भी मिलती है. यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए भी प्रभावी रूप से काम करता है. आप चाहें तो टमाटर को जूस या सूप के रूप में भी पी सकते हैं.

संतरा
संतरा विटामिन-सी के प्रमुख स्रोत खाद्य पदार्थों में से एक है. इसे जूस के रूप में या फिर सामान्य तौर से भी खाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. संतरे का नियमित सेवन करने वाले लोगों में हीमोग्लोबिन की समस्या का खतरा कई गुना तक कम हो सकता है.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में छुहारे खाने से होंगे ये बड़े फायदे, आज ही करें डाइट में शामिल

गुड़
गुड़ आयरन का प्रमुख स्रोत माना जाता है और इसकी तासीर गर्म भी होती है. यह गले की खराश और सर्दी जुकाम में भी अदरक के साथ खाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि गुड़ का सेवन करने से रक्त संचार में बढ़ोतरी होती है और हीमोग्लोबिन की समस्या को दूर करने में भी काफी मदद मिलती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here