Spread the love


फाइल फोटो.

चीनी इंजीनियर्स ने 7600 टन की एक बिल्डिंग (Building) को बिना तोड़े एक जगह से दूसरे जगह शिफ्ट (Shift) कर दिया है. यह शंघाई शहर का एक स्कूल है, जिसे 1935 में बनाया गया था.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 25, 2020, 5:33 PM IST

बीजिंग. चीन के इंजीनियरों ने कमाल कर दिखाया है. 7600 टन की एक बिल्डिंग (Building) को बिना तोड़े एक जगह से दूसरे जगह शिफ्ट (Shift) कर दिया है. यह शंघाई शहर का एक स्कूल है, जिसे 1935 में बनाया गया था. इस पूरी प्रक्रिया में चीन के इंजीनियरों ने नायाब तकनीक का इस्तेमाल किया है और दुनिया में एक नई मिसाल पेश की है.

स्थानीय प्रशासन के अनुसार, जहां यह स्कूल है, वहां एक नए भवन का निर्माण होना है. ऐतिहासिक इमारत होने के कारण इंजीनियरों ने इसे तोड़कर गिराने की जगह इसे शिफ्ट करने के बारे में सोचा और वे इसमें सफल भी रहे.

चीन के सरकारी मीडिया के अनुसार, इंजीनियरों ने इसके लिए 198 रोबोटिक टूल का इस्तेमाल किया और हजारों टन की इमारत को खिसकाकर करीब 62 मीटर दूर ले जाया गया. चीनी मीडिया सीसीटीवी न्यूज़ नेटवर्क के अनुसार, इस काम में करीब 18 दिनों का समय लगा। 15 अक्टूबर को इस काम को पूरा कर लिया गया था.

ये भी पढ़ें: अमीर ब्वॉयफ्रेंड नहीं ढूंढ पाई डेटिंग साइट तो कोर्ट पहुंच गई महिला

अभी तक इमारतों को बड़े प्लेटफ़ॉर्म पर ज़्यादा क्षमता वाली रेल या क्रेन से खींचा जाता था, लेकिन इस काम में रोबोटिक लेग्स का इस्तेमाल किया. यह अपने आप में नायाब था. इससे पहले 2017 में, 135 साल पहले बने और क़रीब दो हज़ार टन के ऐतिहासिक बौद्ध मंदिर को भी लगभग 30 मीटर खिसकाया गया था. इसमें करीब 15 दिन लगे थे.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here