Spread the love


धर्म परिवर्तन कराए जाने की बात फैलते ही पुलिस तुरंत सक्रिय हो गई. मामले की जांच कर उसने बताया कि अफवाह फैलाई गई. (सांकेतिक तस्वीर)

नेहरू नगर में द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया ने बुद्ध वंदना और दीक्षा प्रमाण पत्र के वितरण का आयोजन किया था. लेकिन पूरे इलाके में और शहर में यह बात उड़ाई गई कि 100 लोगों ने बौधधर्म अपना लिया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 26, 2020, 6:00 PM IST

गाजियाबाद. करहेड़ा (karhera) का धर्म परिवर्तन (conversion) का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि गाजियाबाद (Ghaziabad) में धर्म परिवर्तन की अफवाह (rumor) फिर एकबार पसरने लगी है. इस बार नेहरू नगर में द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया ने सम्राट अशोक के लिए विजयदशमी पर बुद्ध वंदना और दीक्षा प्रमाण पत्र के वितरण का आयोजन किया था. लेकिन उस दीक्षा सम्मान समारोह को अलग ही रंग दे दिया गया. पूरे इलाके में और शहर में यह बात उड़ाई गई कि 100 लोगों ने बौधधर्म अपना लिया है और उन्हें शपथ दिलाई गई है.

अधिकारी तुरंत हरकत में आए

इस अफवाह की जानकारी होते ही अधिकारी हरकत में आए और उन्होंने मौके पर पहुंच कर पूरे मामले की तफ्तीश की. दीक्षा समारोह में आने वाले लोगों के अलावा और भी लोगों से पुलिस ने बातचीत की. आयोजकों का कहना था कि ऐसा कोई भी मामला नहीं है. सिर्फ उन्हें बौद्धधर्म को लेकर जागरूक किया गया है. उन्होंने कहा कि यह साफ तौर पर अफवाह उड़ाई गई. धर्म परिवर्तन का कोई मामला है नहीं है.

पुलिस ने जांच कर कहा – अफवाह थीएसपी सिटी ने इस मामले पर कहा कि करहेड़ा के मामले को लेकर पहले ही पुलिस अलर्ट पर है. उसके बाद अब नेहरू नगर में मामला के सामने आने के बाद पुलिस हरकत में आई. उसने पूरी तफ्तीश की. ऐसा कोई मामला है ही नहीं. अफवाह फैलाने की हरकत जिसने भी की है, उनपर कार्यवाई की जाएगी. बहराल मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने आयोजकों से बात करके इस बात की पुष्टि कि धर्म परिवर्तन जैसा कोई मामला नहीं है, जिसके बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here