क्या होता है सहजन, जानें क्यों करना चाहिए इसका सेवन
Spread the love


मोरिंगा यानी सहजन (Drumstick) उन कई पेड़ों में से एक है जिसमें विभिन्न औषधीय (Medicinal) गुण हैं. यह शरीर की इम्युनिटी (Immunity) को बढ़ाने में मदद करते हैं और इन संक्रमणों को दूर रखते हैं. यह एक ऐसा पेड़ है जो दुनिया के विभिन्न हिस्सों में उगता है, लेकिन मुख्य रूप से भारत (India) और अफ्रीका (Africa) इसका मूल है. पेड़ के फूलों का कई जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फूड की शेल्फ लाइफ को बढ़ाने में मदद करते हैं. कैल्शियम, पोटेशियम, जस्ता, मैग्नीशियम, आयरन और कॉपर जैसे अन्य मिनरल्स में भी समृद्ध सहजन शरीर को कई लाभ देता है.

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि सहजन की खासियत है कि इसे पानी की कमी होने पर भी उगाया जाता है. यहां तक कि दुनियाभर में इसे सुपरफूड कहा जाता है. आयुर्वेद के मुताबिक सहजन में लगभग 300 बीमारियों का इलाज करने की क्षमता है. इसकी पत्तियों में औषधीय गुण मौजूद होते हैं. इसके पेड़ का हर हिस्सा जड़ से लेकर पत्ते तक सभी लाभकारी हैं. सही तरीके से इस्तेमाल करने पर चमत्कारी हो सकता है. सहजन के बीज में फाइबर ज्यादा होता है जो कि पाचन के लिए अच्छा है. इसकी पत्तियों को सलाद में खाया जा सकता है या इसका जूस बनाकर पी सकते हैं. सहजन का पॉवडर सूप या सब्जी में पकाने के दौरान डाल सकते हैं. इसकी फली काफी पौष्टिक होती है, जिसे उबालकर, तलकर या सब्जी में मिलाकर खा सकते हैं.

पेट के लिए अच्छा हैसहजन का सेवन अल्सर, कब्ज जैसे पाचन तंत्र की दिक्कतों को दूर करता है. इसमें एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि दस्त जैसी समस्याओं को कम करते हैं. इसकी सब्जी से किडनी में जमी पथरी पिघलकर निकल जाती है.

बढ़ी हुई चर्बी दूर करने में

शरीर की बढ़ी हुई चर्बी दूर करने में सहायक है. मोटापे से ग्रस्त व्यक्ति को इसका सेवन करना चाहिए. इसमें मौजूद फास्फोरस की मात्रा शरीर की अतिरिक्त कैलोरी को कम करती है. यह फैट को कम कर मोटापे को दूर करने में सहायक है. इसकी पत्तियों के रस का सेवन भी कर सकते हैं.

बच्चों को जरूर खिलाएं

इसमें कैल्शियम होता है और अगर बचपन से ही इसका सेवन किया जाए तो हड्डियां और दांत मजबूत बनते हैं.

कम करता है हाई बीपी

हाई ब्लड प्रेशर को रोकने में फल और सब्जियों में मौजूद पोटेशियम की उच्च मात्रा मददगार होती है. इसमें पोटेशियम, विटामिन और मिनरल्स खूब होते हैं. हाई बीपी से जूझ रहे लोगों को इसे जरूर अपने आहार में शामिल करना चाहिए. पत्तियों के रस का काढ़ा बनाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं. यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियंत्रित करता है.

सिरदर्द दूर करता है

सहजन के पत्तियों की सब्जी सिरदर्द से छुटकारा दिलाती है. इसके पत्ते को गर्म कर सिर पर लेप भी लगा सकते हैं. सहजन में दर्द और सूजन कम करने वाले गुण होते हैं. माइग्रेन के इलाज के लिए लाभकारी है.

त्वचा को संक्रमण से बचाता है

इसमें मौजूद एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियस  और एंटीवायरल गुण त्वचा को संक्रमण से बचाते हैं. यह हानिकारक विषाक्त पदार्थों के असर को बेअसर करता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, सहजन के फायदे और नुकसान पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here