समाजवादी पार्टी के राष्ट्र्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (File Photo)

सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट किया है कि जिस वैक्सीन को लगने से पहले ख़राब होने से बचाने के लिए ठंडे बक्से में जल्दी से जल्दी एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना सबसे बड़ी ज़रूरत है, उसके लिए सरकार ऐसी जानलेवा लापरवाही न करे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 7, 2021, 12:19 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) से शुरू हो रहे कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) के लिए मंगलवार को पूरे प्रदेश में ड्राई रन किया गया, ताकि खामियों को दुरुस्त किया जा सके. इस दौरान वाराणसी में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए ड्राई रन की तैयारियों की पोल उस समय खुली जब कर्मचारी वैक्सीन को साइकिल से लेकर अस्पताल पहुंचे. उधर मामले पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा है और लापरवाही से बचने की सलाह दी है.

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, “कोरोना के टीका लगाने के ‘नक़ली अभ्यास’ में भाजपा सरकार के सरकारी इंतजाम की असली सच्चाई खुल गयी है. जिस वैक्सीन को लगने से पहले ख़राब होने से बचाने के लिए ठंडे बक्से में जल्दी से जल्दी एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना सबसे बड़ी ज़रूरत है उसके लिए सरकार ऐसी जानलेवा लापरवाही न करे.”

वाराणसी में दिखी थी लापरवाही

दरअसल वाराणसी में पुलिस की तैनाती जरूर की गई, लेकिन वैक्सीन को अस्पताल तक पहुंचाने की पूरी तैयारी नहीं की गई. वाराणसी के चौकाघाट कोरोना वैक्सीन केंद्र से वैक्सीन महिला अस्पताल साइकिल से पहुंचाई गई. वहीं, महिला अस्पताल में जब वैक्सीन पहुंची तो वहां भी तैयारी नहीं थी. वाराणसी के सीएमओ डॉ. वीबी सिंह का कहना है पांच केंद्रों पर वैन से वैक्सीन गई है. केवल महिला अस्पताल में साइकिल से वैक्सीन कैरियर लेकर आया है. हर जिले में 6-6 स्थानों पर वैक्सीनेशन के लिए ड्राई रन आयोजित हो रहे हैं. ड्राई रन के दौरान किसी को भी कोई वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है, बल्कि केवल वैक्सीन लगाने का मॉक ड्रिल किया जा रहा है. इसके बावजूद कई जिलों में अलग-अलग अव्यवस्था देखने को मिली.

Akhilesh tweet

सपा प्रमुख अखिलेश यादव का ट्वीट

वॉलंटियर्स भी नहीं दिखे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बावजूद वाराणसी में अव्यवस्था देखने को मिली. कई केंद्रों पर वॉलंटियर्स भी नजर नहीं आए. सिर्फ दो लोग ही वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे, जबकि 25 लोगों का टीकाकरण होना था. गौरतलब है कि 5 जनवरी को यूपी में सबसे बड़ा ड्राई रन सुबह 10 बजे से 12 बजे तक किया गया. लखनऊ में मुख्यमंत्री ने खुद ड्राई रन का जायजा लेने लोहिया संस्थान पहुंचे.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here