Spread the love


दुबई3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कृष्णमचारी श्रीकांत टीम इंडिया के पूर्व ओपनर और चीफ सिलेक्टर रह चुके हैं। उन्होंने आईपीएल सीजन-13 में धोनी की कप्तानी पर सवाल उठाए हैं। (फाइल)

  • केदार जाधव ने 8 मैचों में 62 रन बनाए हैं, वहीं चावला राजस्थान के खिलाफ मैच में 3 ओवर में 32 रन दिए थे
  • युवा खिलाड़ी नारायण जगदीशन ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ खेले मैच में 33 रन बनाए थे

इंडिया टीम के पूर्व सेलेक्टर के श्रीकांत ने चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की युवाओं को मौका नहीं देने पर आलोचना की है। उन्होंने प्लेइंग इलेवन में केदार जाधव और पीयूष चावला को भी टीम में शामिल किए जाने पर सवाल उठाए हैं।

श्री कांत ने स्टार स्पोर्ट्स तमिल से बात करते हुए कहा- मैं स्वीकार नहीं करूंगा कि धोनी क्या कह रहे हैं। आप हर वक्त प्रोसेस की बात करते हैं, लेकिन आपका सेलेक्शन प्रोसेस ही गलत है।

उन्होंने कहा आगे कहा- धोनी महान खिलाड़ी हैं, लेकिन मैं उनके इस बात से सहमत नहीं हूं कि युवाओं में उन्हें जुनून नहीं दिखा। उन्हें पीयूष- जाधव में ऐसा क्या दिखा है, जो जगदीशन में नहीं दिखा। वह उसमें किस तरह का जुनून देखना चाहते हैं। श्रीकांत ने इंडिया के लिए 43 टेस्ट में 29.88 की औसत से 2062 रन और 146 वनडे में 29.01 की औसत से 4,091 रन बनाए हैं।

युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाएगा

धोनी ने सोमवार को चेन्नई की सातवीं हार के बाद कहा था, कि बचे हुए आगे के मैचों में युवाओं को मौका देंगे। क्योंकि प्लेऑफ में जाने का दबाव खत्म हो गया है। वे बिना दबाव में बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे। धोनी ने कहा था की युवाओं को अब तक इसलिए मौका नहीं दिया क्योंकि वे उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए। उनका प्रदर्शन ऐसा नहीं था कि टीम मैनेजमेंट सीनियर्स प्लेयर्स को ड्रॉप कर उन्हें लेने के लिए मजबूर हो सके।

जगदीशन ने एक मैच में बनाए 33 रन

युवा खिलाड़ी नारायण जगदीशन को एक मैच में मौका मिला था। जगदीशन ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ खेले मैच में 33 रन बनाए थे। जबकि ऋतुराज गायकवाड़ को दो मैच खेलने का मौका मिला। जिसमें उन्होंने 5 रन बनाए थे।

जाधव ने बनाए 62 रन

केदार जाधव ने 8 मैचों में 62 रन बनाए। वहीं पीयूष चावला राजस्थान के खिलाफ मैच में सोमवार को 3 ओवर में 32 रन दिए थे। उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here