इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए इन ताजा फलों और सब्जियों को डाइट में करें शामिल, जानें इनके नाम
Spread the love


विटामिन सी से समृद्ध खाद्य पदार्थ इम्यूनिटी का स्तर सुधारते हैं.

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने के लिए ताजे फल और सब्जियों (Fresh Fruits And Vegetables) का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और ये विभिन्न रोगों से शरीर को बचाते हैं.



  • Last Updated:
    September 23, 2020, 6:41 AM IST

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच इम्यूनिटी यानी प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया जा रहा है. रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाकर वायरस और अन्य बीमारियों को दूर रखा जा सकता है. इसे पाने के तरीकों में से एक है स्वस्थ और इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन. myUpchar से जुड़ीं डॉ. आकांक्षा मिश्रा का कहना है कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ताजे फल और सब्जियों (Fresh Fruits And Vegetables) का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और ये विभिन्न रोगों से शरीर को बचाते हैं. विटामिन सी से समृद्ध खाद्य पदार्थ इम्यूनिटी का स्तर सुधारते हैं. भारत सरकार के विभाग फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) ने हाल ही में कुछ पौधे आधारित खाद्य पदार्थों की सलाह दी है, जिसे आहार में शामिल कर सकते हैं. इनमें आंवला, संतरे, पपीता, शिमला मिर्च, अमरूद और नींबू शामिल हैं. विटामिन सी होने के अलावा अन्य तरीकों से ये फूड्स फायदा देते हैं.

आंवला

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्यून सिस्टम हानिकारक संक्रमण से लड़ता है और शरीर को रोग मुक्त रखने में मुख्य भूमिका निभाता है. विटामिन सी से भरपूर होने की वजह से आंवला प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और रोगों के खिलाफ लड़ने के लिए पर्याप्त क्षमता देता है. आधा कप गर्म पानी में बराबर मात्रा में आंवला रस मिलाकर रोजाना सेवन करें.संतरा

खट्टा फल होने की वजह से संतरे विटामिन सी से भरपूर हैं जो कि प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए जरूरी है. विटामिन सी बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने वाले श्वेत रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देता है. इसके अलावा संतरे में बहुत सारे पॉलीफेनॉल होते हैं जो वायरल संक्रमणों से बचाते हैं. यही नहीं विटामिन ए, फोलेट और तांबे जैसे पोषक तत्व भी प्रतिरक्षा बढ़ाने में खास भूमिका निभाते हैं.

पपीता

पपीता में विटामिन सी होने से सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद मिलती है और कोशिकाओं को फ्री रेडिकल क्षति से बचाता है. पपीता में अन्य शक्तिशाली प्रतिरक्षा प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन ए और ई भी हैं. विटामिन ए और ई दोनों एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली के उचित कार्य के लिए आवश्यक हैं. पपीते को उन लोगों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है जो अक्सर सर्दी, फ्लू और खांसी से पीड़ित होते रहते हैं.

शिमला मिर्च

शिमला मिर्च कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों जैसे विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है. अध्ययनों से पता चला है कि यह एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति के कारण आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करता है और एनीमिया को रोकता है.

अमरूद

अमरूद पोटैशियम और फाइबर से भी भरपूर होते हैं. अध्ययनों से पता चलता है कि वे रक्त शर्करा के स्तर में सुधार करते हैं और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं और ऐंठन जैसे मासिक धर्म के दर्दनाक लक्षणों को दूर करने में भी मदद करते हैं. यह फ्लू और डेंगू बुखार से लड़ने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

नींबू

इसी तरह, नींबू को वजन घटाने, हृदय और पाचन स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए जाना जाता है. नींबू में साइट्रिक एसिड मूत्र की मात्रा और शरीर में पीएच स्तर को बढ़ाकर किडनी की पथरी को रोकने में मदद करता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के घरेलू उपाय पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here