फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश को सबसे सुरक्षित माना जाता है.
Spread the love


नई दिल्ली. कम जोखिम उठाने वाले अधिकतर निवेशक अपने पोर्टफोलियो में फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposits) में निवेश करना पसंद करते हैं. दरअसल, फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश को सबसे सुरक्षित माना जाता है. इसमें रिटर्न भी सुनिश्चित होता है. अक्सर इन्वेस्ट करने वाले लोग उसी बैंक में डिपोजिट करना चाहते हैं जहां उनका सेविंग अकाउंट होता है. जिस बैंक में आपका सेविंग अकाउंट नहीं है, वहां भी आपको एफडी रखने की सुविधा कुछ बैंक प्रदान करते हैं.

यह अहम है कि आप बैंक से पहले पूरी जानकारी प्राप्त करें और बाद में इन्वेस्ट करें. पूरे समय के बाद एफडी में ब्याज दरों को कम करने से बचत करने वालों को कड़ी चोट लगी है. 1 साल की एफडी पर बेस्ट ब्याज दर वाले बैंक हैं…

प्राइवेट सेक्टर के बैंक
इंडसइंड बैंक- 7 फीसदी ब्याजयस बैंक- 7 फीसदी ब्याज

RBL बैंक- 6.85 फीसदी ब्याज
DCB बैंक- 6.50 फीसदी ब्याज
बंधन बैंक- 5.74 फीसदी ब्याज

यह भी पढ़ें: दशहरा-दिवाली से पहले सरकारी कर्मचारी को तोहफा, बिना ब्याज के एडवांस में ले सकेंगे 10 हजार रुपये

विदेशी बैंक
स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक- 6.3 फीसदी ब्याज
DBS बैंक- 4.15 फीसदी ब्याज
Deutsche बैंक- 4 फीसदी ब्याज
HSBC- 3.25 फीसदी ब्याज
सिटी बैंक- 3 फीसदी ब्याज

छोटे प्राइवेट बैंक ज्यादा ब्याज देते हैं
बैंक बाजार के डेटा के अनुसार छोटे बैंक एक साल की एफडी पर ज्यादा ब्याज दर देते हैं. इनमें विदेशी बैंकों से ज्यादा ब्याज दर एक साल के फिक्स्ड डिपोजिट पर मिलता है. इंडसइंड बैंक और यस बैंक में 7 फीसदी सालाना ब्याज दर मिलती है, वहीँ RBL बैंक में यह 6.85 फीसदी है. विदेशी बैंकों में सबसे ज्यादा ब्याज दर 6.30 फीसदी है.

HDFC, ICICI Axis बैंक जैसे अग्रणी बैंकों में 5.15, 5.10 और 5 फीसदी सालाना ब्याज दर एफडी पर मिलता है. सार्वजनिक क्षेत्र के दिग्गज बैंक एसबीआई और बैंक ऑफ़ बड़ौदा में एफडी पर सालाना ब्याज दर 4.90 फीसदी मिलता है. 5 लाख रुपये तक की एफडी में निवेश की गारंटी आरबीआई की सहायक कंपनी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन (DICGC) द्वारा दी जाती है.

यह भी पढ़ें: LTC cash voucher scheme: प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों पर क्या होगा असर

प्राइवेट बैंकों में कम से कम 100 से दस हजार रुपये इन्वेस्टमेंट होने चाहिए. इसके अलावा विदेशी बैंकों में यह राशि 1000 से 20000 रुपये प्रति वर्ष है. एफडी पर डेटा सम्बंधित बैंकों की वेबसाइट पर 7 अक्टूबर 2020 तक है. सभी सूचीबद्ध (बीएसई) निजी बैंकों और विदेशी बैंकों की ब्याज दरें डेटा संकलन के लिए मानी जाती हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here