डोनाल्ड ट्रंप

बताया जा रहा है कि ट्रंप समर्थक कैपिटल बिल्डिंग में घुस गए और हंगामा करने लगे. इसके चलते कांग्रेस को मजबूरन अपनी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. वॉशिंगटन डीसी महापौर ने स्थानीय समयानुसार शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलान किया है.

वॉशिंगटन. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव (US President Election 2020) के नतीजों को लेकर सियासी खींचतान जारी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चुनावों में धांधली का आरोप लगाया है और दबाव बनाने में जुटे हैं. इस बीच ट्रंप समर्थकों की भीड़ ने यूएस कैपिटोल हिल बिल्डिंग के बाहर हंगामा किया.

प्रदर्शनकारियों की पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई, जिसके बाद परिसर को बंद कर दिया गया. कैपिटोल के भीतर यह घोषणा की गई कि बाहरी सुरक्षा खतरे के कारण कोई व्यक्ति कैपिटोल हिल परिसर से बाहर या उसके भीतर नहीं जा सकता.

न्यूज एजेंसी AP के मुताबिक, ट्रंप समर्थक कैपिटोल हिल बिल्डिंग में घुस गए और हंगामा करने लगे. ऐसे में कांग्रेस को मजबूरन अपनी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. ट्रंप समर्थकों और पुलिस बल के बीच हिंसक झड़प में कई घायल हुए. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैसे के गोले दागने पड़े हैं.

वॉशिंगटन डीसी के पुलिस प्रमुख ने कहा कि ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग में घुसने के लिए पुलिस बल पर रासायनिक पदार्थ फेंके. वॉशिंगटन डीसी के मेयर ने स्थानीय समयानुसार शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलान किया है.जो बाइडन बोले- ये राजद्रोह है
राष्ट्रपति पद के लिए चुने गए जो बाइडन ने भी घटना को लेकर प्रतिक्रिया दी है. बाइडन ने ट्वीट किया, ‘मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आह्वान करता हूं कि वह अपनी शपथ पूरी करें और संविधान की रक्षा करें और इस घेराबंदी को समाप्त करने की मांग करें.’ एक और ट्वीट में बाइड कहते हैं, ‘मैं साफ कर दूं कि कैपिटोल बिल्डिंग पर जो हंगामा हमने देखा हम वैसे नहीं हैं. ये कानून न मानने वाले अतिवादियों की छोटी संख्या है. ये राजद्रोह है.’

ट्रंप ने की शांति की अपील
इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति की अपील की है. वहीं हंगामा को देखते हुए नेशनल गार्ड का रवाना किया गया है. व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी ने ट्वीट करके कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के निर्देश पर नेशनल गार्ड और दूसरी केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान रवाना कर दिए गए हैं. हम हिंसा के खिलाफ और शांति बनाये रखने के लिए राष्ट्रपति की अपील को दोहरा रहे हैं.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here